Wednesday , December 13 2017

होनहार मुस्लिम तलबा के लिए अख़बार सियासत का इन्क़िलाबी इक़दाम

उर्दू अख़बारात की दुनिया में रोज़नामा सियासत जिस के बानी मरहूम नवाब आबिद अली ख़ां और मरहूम महबूब हुसैन जिगर हैं जिन की दोस्ती मिसाली थी, इन दोनों ने जिस अख़बार की शुरूआत की थी वो मुल्क ही नहीं बल्कि सारे आलम में जहां उर्दू बोली और सम

उर्दू अख़बारात की दुनिया में रोज़नामा सियासत जिस के बानी मरहूम नवाब आबिद अली ख़ां और मरहूम महबूब हुसैन जिगर हैं जिन की दोस्ती मिसाली थी, इन दोनों ने जिस अख़बार की शुरूआत की थी वो मुल्क ही नहीं बल्कि सारे आलम में जहां उर्दू बोली और समझी जाती है वहां पढ़े जाते हैं।

आज के तरक़्क़ी याफ़ता दौर में साईंस ने इतनी तरक़्क़ी करली है कि उस की बदौलत सारे आलम में अख़बार सियासत का ई पेपर देखा जा रहा है। अख़बार सियासत के क़ारईन इस हक़ीक़त से भी अच्छी तरह वाक़िफ़ हैंके अख़बार सियासत ने ना सिर्फ़ सियासी ख़बरों की वजह से अपनी शिनाख़्त बनाई है बल्कि मज़हबी, साईंसी, तारीख़ी मालूमात फ़राहम करने में दुनिया भर के दानिश्वरों और क़लमकारों का उसे तआवुन हासिल है।

इस के साथ साथ समाजी, मज़हबी , तालीमी, तिब्बी, सरकारी मुलाज़मतों जैसे पुलिस, बैंकों, रेलवे रिक्रूटमेंट के लिए तर्बीयती क्लासेस का एहतेमाम किया जा रहा है। इस के लिए आई पी एस, आई ए एस , सर्विस की तैयारीयों का भी एहतेमाम किया जा रहा है।

उसकी वजह से सारे आलम में अख़बार सियासत की ख़िदमात की सराहना की जा रही है और अख़बार सियासत के ज़िम्मेदारों मुदीरे ज़ाहिद अली ख़ां, मैनेजिंग एडीटर ज़हीरुद्दीन अली ख़ां और न्यूज़ एडीटर आमिर अली ख़ां और उनके साथ जुड़ी हुई समाजी ख़िदमत गुज़ारों की एक टीम है इन सभी की सताइश की जा रही है।

इदारा सियासत की तरफ से परेशान हाल बीमारों, फ़सादज़दा मुक़ामात के मुतास्सिरीन और आफ़ात समावी के मुतास्सिरीन की इमदाद की जाती है। सियासत की तरफ से इन इक़दामात पर लोग दोनों हाथ उठाकर दुआएं दे रहे हैं।

अब अख़बार सियासत के ज़िम्मेदारों की तरफ से एक और मंसूबा अमल तए पाया है वो ये हैके एमबी ए , एम काम, एम एससी, एमसी ए, एमटेक , एम एस की तैयारी या फिर कोई इन्फ़िरादी किस्म का प्रोजेक्ट सनअत का क़ियाम वग़ैरा में अख़बार सियासत की तरफ से रहनुमाई-ओ-रहबरी और हुकूमत की तरफ से जो भी मदद होसकती है इस में तआवुन और सियासत की तरफ से भी माली तआवुन फ़राहम होगा।

इस सिलसिले में मुस्तहिक़ होनहार मुस्लिम लड़के, लड़कीयों की निशानदेही के लिए ज़िला की सतह पर एक एडवाइज़री मुशावरती कमेटी का क़ियाम अमल में लाया जा रहा है। इस सिलसिले में एज़ाज़ी ख़िदमात की अंजाम दही के ख़ाहिशमंद दानिश्वर नुमाइंदा सियासत सय्यद मुहीउद्दीन से मुइज़ बुक स्टाल,मोबाईल नंबर 9849152827 पर रब्त करें।

मुशावरती कमेटी में शामिल हज़रात मुशावरती मीटिंग में अपने अपने मुक़ामात के अहलीयत रखने वाले मुस्तहिक़ लड़के, लड़कीयों की इमदाद, तआवुन के लिए सिफ़ारिश करने के अहल होंगे। उनकी सिफ़ारिश पर अमल करने का अख़बार सियासत के मालकीयन और बाइख़तियार कमेटी को इख़तियार रहेगा

TOPPOPULARRECENT