Friday , December 15 2017

हक़ीक़ी मसाइल से तवज्जे हटाने हुकूमत की मज़मूम कोशिश

नई दिल्ली: कांग्रेस ने आज राज्य सभा में नाबालिग़ जस्टिस बिल राज्य सभा में पेश करने पर तन्क़ीद की और कहा कि आज की कार्रवाई में इसका ज़िक्र भी नहीं था लेकिन हुकूमत हक़ीक़ी मसाइल बिलख़ुसूस डी डी सी ए से तवज्जे हटाने के लिए ऐसा कर रही है। पार्लियामेंट के दोनों ऐवान में आज वज़ीर फाइनेंस अरूण जेटली से इस्तीफे का मुतालिबा करते हुए कांग्रेस अरकान ने एहतेजाज किया और कार्रवाई चलने नहीं दी।

ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि हुकूमत हक़ीक़ी मसाइल से तवज्जे हटाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि अपोज़िशन ने जब दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसीएशन‌ (डी डी सी ए) का मसला उठाया तो हुकूमत ने जवीनाई जस्टिस बिल की बात की है। जब उनसे पूछा गया कि क्या कांग्रेस इस बिल की ताईद करेगी? राज्य सभा में क़ाइद अपोज़िशन ने इस बात में जवाब दिया।

उन्होंने कहा कि यहां सवाल बिल की ताईद का नहीं बल्कि ऐवान में उठाए जानेवाले मसाइल का है। उन्होंने हुकूमत पर अपोज़िशन को बदनाम करने की चालाक कोशिश का इल्ज़ाम आइद किया। उन्होंने कहा कि हुकूमत किस तरह अपोज़िशन को बदनाम कर रही है। हमने सिर्फ यही कहा है कि ये बिल आज की कार्रवाई में शामिल नहीं लिहाज़ा उसे कल पेश किया जाये।

उन्होंने कहा कि हुकूमत सिर्फ अपोज़िशन की जानिब से उठाए जानेवाले मुख़्तलिफ़ मसाइल बिशमोल डी डी सी ए से तवज्जे हटाने की कोशिश कर रही है। क़ाइद अपोज़िशन ने कहा कि उन्होंने हुकूमत से यही कहा था कि ऐवान में बिल पेश करने से क़बल कुलजमाती इजलास तलब किया जाये और उसे आज ऐवान की कार्रवाई में शामिल भी नहीं रखा गया था लेकिन हुकूमत ने मह‌ज़ वज़ीरे फाइनेंस का मसला अपोज़िशन की जानिब से ना उठाने के मक़सद से सोचे समझे अंदाज़ में ये बिल पेश करने की कोशिश की है।

उन्होंने कहा कि हुकूमत ये तास्सुर देने की कोशिश कर रही है कि वो बिल मंज़ूर करना चाहती है लेकिन अपोज़िशन की वजह से ऐसा नहीं हो पा रहा है। उन्होंने फिर एक-बार हुकूमत से कहा कि वो जुवेनाइल जस्टिस बिल् कल पेश करे।

TOPPOPULARRECENT