Monday , December 11 2017

हक़्क़ानी नेट वर्क अमरीका की पैदावार, रहमान मलिक का इस्तिदलाल

ईस्लामाबाद।27 सितंबर( पी टी आई) पाकिस्तान के वज़ीर-ए-दाख़िला रहमान मलिक ने इस्तिदलाल पेश किया है कि अमरीका को भी चाहीए कि वो हक़्क़ानी नेट वर्क के फैलाओ-ओ-इस्तिहकाम में दूसरों पर इल्ज़ाम आइद करने से क़बल अपनी ज़िम्मेदारी भी क़बूल करे

ईस्लामाबाद।27 सितंबर( पी टी आई) पाकिस्तान के वज़ीर-ए-दाख़िला रहमान मलिक ने इस्तिदलाल पेश किया है कि अमरीका को भी चाहीए कि वो हक़्क़ानी नेट वर्क के फैलाओ-ओ-इस्तिहकाम में दूसरों पर इल्ज़ाम आइद करने से क़बल अपनी ज़िम्मेदारी भी क़बूल करे क्यों कि सी आई ए ने तालिबान के इस गिरोह का वजूद उस वक़्त अमल में लाया था जब अफ़्ग़ानिस्तान पर सोवीयत यूनीयन का क़बज़ा था और ये गिरोह अपने अरकान को तर्बीयत दिया करता था। मिस्टर रहमान मलिक ने अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि हक़्क़ानी नेट वर्क को अमरीका की जासूस इदारे सी आई ए ने ना सिर्फ पैदा किया है बल्कि उस को मुकम्मल तर्बीयत और दीगर वसाइल से आरास्ता किया है। ये गिरोह पाकिस्तान में पैदा नहीं हुआ है और ना ही पाकिस्तान की पैदावार है और अमरीका को चाहीए कि अब वो, वो बातें ना करें जो 20 साल पहले होचुकी हैं। ताहम उन्होंने इस बात की तौसीक़ की कि पाकिस्तान ने 1980-की दहाई में अफ़्ग़ानिस्तान पर सोवीयत फ़ोर्सस के क़बज़े के ख़िलाफ़ जंग के दौरान सी आई ए की मदद की थी। उन्हों ने कहा कि हक़्क़ानी नेट वर्क फ़िलहाल अफ़्ग़ानिस्तान में सरगर्म है और जो लोग इस से मुतज़ाद दावे कररहे हैं उन्हें पाकिस्तान में इस गिरोह की मौजूदगी का सबूत देना होगा।

TOPPOPULARRECENT