Saturday , December 16 2017

क़त्ल कर 25 मिनट तक कॉलेज में घूमता रहा क़ातिल

रांची: प्रिंसीपल डॉ शशिभूषण की गर्दन काटने के बाद मुल्ज़िम राकेश 25 मिनट तक कॉलेज के अहाते में घूमता रहा, लेकिन किसी ने उसे पकड़ने की हिम्मत नहीं जुटायी. Enrollment Center में भी वह जबरन घुसने की कोशिश किया लेकिन मुलाज़्मीन ने दरवाजा बंद कर दिया.

दिन के करीब 12 बजे केओ कॉलेज गुमला में प्रिंसीपल डॉ शशिभूषण, कॉलेज के टीचर प्रो जीतवाहन बड़ाइक व प्रो एजे खलखो के साथ बैठे हुए थे. किसी काम को लेकर प्रो खलखो दफ्तर से निकल कर चले गये.दफ्तर में शशि भूषण व जीतवाहन आपस में किसी बात को लेकर सलाह मशवरा कर रहे थे.

तभी ग्रेजुएशन पार्ट थर्ड का स्टूडेंट राकेश उर्फ कृष्णा भुजाली लेकर पहुंचा. कोई कुछ समझ पाता कि उससे पहले राकेश ने भुजाली से प्रिंसिपल पर वार कर दिया. गर्दन में लगते ही प्रिंसिपल फर्स पर गिर पड़े. यह देख मुल्ज़िम ने दोबारा प्रिंसिपल की गर्दन काट दी.

फर्स पर खून पसर गया. प्रो जीतवाहन हल्ला करने लगे. आसपास के मुलाज़िम जुट गये. स्टूडेंट्स में अफरा-तफरी मच गयी. फौरन प्रिंसिपल को उठा कर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मुर्दा ऐलान कर दिया. टीचर व मुलाज़्मीन ने बताया कि प्रिंसिपल को भुजाली से काटने के बाद भी कातिल के चेहरे पर किसी तरह का डर या कोई सिकन नहीं था. वह बड़े आराम सेप् रिंसिपल के दफ्तर से भुजाली हिलाते हुए निकला. तभी किसी ने उसे पुलिस के आने की इत्तेला दी और वह हास्टल में जाकर छिप गया. पुलिस ने उसे हास्टल से दबोच लिया .

थाना में जब राकेश को लाया गया, तो यहां भी वह हंसकर बात कर रहा था. लेकिन उसने जो बयान दिया है. अगर उसकी बयान में सच्चाई है, तो प्रिंसिपल को पूरी प्लानिंग के तहत मारा गया है. इसमें और कुछ लोगों के हाथ हो सकते हैं, जिसके कहने पर राकेश ने इतना बड़ा कदम उठाया. पुलिस ने हास्टल के रूम नंबर 130 से भुजाली बरामद की है. भुजाली को धोकर पेपर में मोड़कर रखा गया था.

भुजाली से काटने के बाद राकेश ने उसे धोकर अपने ही रूम में छिपा कर रखा था. वहीं पुलिस ने प्रिंसिपल के दफ्तर के बाहर से राकेश की एक साइकिल भी बरामद की है. पुलिस साइकिल को थाना ले गयी है.

स्टूडेंट्स के मुताबिक दो दिन पहले राकेश हास्टल से गायब हुआ था और बुध के रोज़ वह साइकिल से आया था.

TOPPOPULARRECENT