Monday , December 11 2017

क़ाहिरा मुज़ाकरात की कामयाबी के लिए कोशिशें जारी

अक़वामे मुत्तहिदा की सलामती कौंसिल में उर्दन की जानिब से ग़ाज़ा के मुआमले पर पेश की जाने वाली क़रारदाद में शहरीयों के ख़िलाफ़ तशद्दुद की मुज़म्मत करते हुए मुस्तक़िल जंग बंदी की ज़रूरत पर ज़ोर दिया गया है। दूसरी जानिब तमाम नज़रें क़ाहिरा क

अक़वामे मुत्तहिदा की सलामती कौंसिल में उर्दन की जानिब से ग़ाज़ा के मुआमले पर पेश की जाने वाली क़रारदाद में शहरीयों के ख़िलाफ़ तशद्दुद की मुज़म्मत करते हुए मुस्तक़िल जंग बंदी की ज़रूरत पर ज़ोर दिया गया है। दूसरी जानिब तमाम नज़रें क़ाहिरा की जानिब मर्कूज़ हैं जहां ग़ाज़ा में जंग मुकम्मल तौर पर रुकवाने के लिए मुज़ाकरात जारी हैं।

इस्लामी तहरीक मुज़ाहमत (हम्मास) ने “ग़ाज़ा की पट्टी में मुज़ाहमती ग्रुपों से असलहा वापसी की तजवीज़ को मुस्तरद कर दिया है। क़ाहिरा मुज़ाकरात के नतीजे में इसराईल और फ़लस्तीनीयों के दरमयान उबूरी फ़ायर बंदी का जो मुआहिदा तय पाया है इस वक़्त इसे जारी रखने के लिए इलाक़ाई और बैनुल अक़वामी कोशिशें इंतिहाई एहतियात से जारी हैं ताकि ग़ाज़ा में तवीलुल मियाद जंग बंदी कराई जा सके।

क़ाहिरा से मिलने वाली ताज़ा तरीन इत्तिलाआत के मुताबिक़ जॉन कैरी ने इशारा दिया है कि मुज़ाकरात को कामयाब बनाने के लिए इसराईल को इस बात पर मजबूर किया जा रहा है कि वो बड़ी रियातें दे।

उन का इशारा ग़ाज़ा की पट्टी का मुहासिरा ख़त्म करने की जानिब था। इस बात का इमकान है कि अमरीका क़ाहिरा मुज़ाकरात में शरीक हो जाए। जॉन कैरी ने इस मौक़ा पर तनाज़ा के दोनों फ़रीक़ों पर ज़ोर दिया है कि वो क़ाहिरा मुज़ाकरात से फ़ायदा उठाते हुए अमन मुज़ाकरात का सिलसिला दोबारा शुरू करें ताकि दो रियास्ती तजवीज़ की रौशनी में तनाज़ा का हल तलाश किया जा सके।

अब इसराईली फ़ौज के मुताबिक़ उस के टैंक डिवीज़न और पैदल दस्ते ग़ाज़ा के बाहर इसराईली मुहासिरे को मोअस्सर बनाने के लिए तैनात किया जा रहे हैं ताकि तवील मुहासिरे से मजबूर हो कर ग़ाज़ा के फ़लस्तीनी इसराईल के ख़िलाफ़ अपने मौक़िफ़ से किनाराकशी अख़्तियार कर लें।

TOPPOPULARRECENT