Monday , December 18 2017

क़िब्ला अव्वल के लिए इसराईल की तन्बीहा ज़रूरी: मजलिस मुशावरत

रियास्ती यू पी मुस्लिम मजलिस मुशावरत के सदर महबूब अहमद ने दुनिया के तमाम मुस्लिम ममालिक नीज़ सैक़्यूलर ममालिक से अपील की है कि वो मुशतर्का तौर पर बैत-उल-मुक़द्दस की हिफ़ाज़त को यक़ीनी बनाए और इसराईल को पूरी सख़्ती से मुतनब्बा कर दिया ज

रियास्ती यू पी मुस्लिम मजलिस मुशावरत के सदर महबूब अहमद ने दुनिया के तमाम मुस्लिम ममालिक नीज़ सैक़्यूलर ममालिक से अपील की है कि वो मुशतर्का तौर पर बैत-उल-मुक़द्दस की हिफ़ाज़त को यक़ीनी बनाए और इसराईल को पूरी सख़्ती से मुतनब्बा कर दिया जाय कि मुस्लमानों के क़िब्ला अव्वल के साथ किसी तरह की छेड़ छाड़ इसराईल को बहुत महंगी पड़ सकती है ।

महबूब अहमद ने हज़रत उम्र फ़ारूक़ के बाद सलाह उद्दीन अय्यूबी के दौर की याद दिलाते हुए कहा कि दुनिया के मुस्लमान अपने क़िब्ला अव्वल के तहफ़्फ़ुज़ के लिए कुछ भी कर गुज़रने से पीछे हटने वाले नहीं हैं ।बेहतर है कि इसराईल आलमी अमन क़ायम रखने के लिए अपनी हट धर्मी से बाज़ आए। अब तक इसराईली हुकूमत ने बेशुमार फ़लस्तीनीयों को मार दिया है लेकिन ज़ुल्म और नाइंसाफ़ी पर अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के साथ साथ दुनिया के तमाम ममालिक ख़ामोश तमाशाई बने बैठे हैं।

उन्होंने कहा कि वो अल्लाह का घर है। यक़ीनन अल्लाह ताला उसकी हिफ़ाज़त की कोई शक्ल पैदा करेगा लेकिन हम को भी अपना रास्ता तय कर लेना चाहीए। उन्होंने अपील की कि गोशा गोशा में जलसा जलूस निकाल कर आलमी ज़हन को बेदार करें और इसराईल पर दबाव बना कर उसे क़िब्ला अव्वल को नुक़्सान पहुंचाने से बाज़ रखें।

TOPPOPULARRECENT