क़ियादत पर तनाज़े का बोहरान ख़त्म हो गया – अफ़्ग़ान तालिबान

क़ियादत पर तनाज़े का बोहरान ख़त्म हो गया – अफ़्ग़ान तालिबान

अफ़्ग़ानिस्तान में तालिबान ने कहा है कि उन की तहरीक को ख़तरे से दोचार करने वाला एक बड़ा तनाज़ा हल हो गया है क्योंकि इंतिक़ाल कर जाने वाले रहनुमा मुल्ला उमर के रिश्तेदारों ने उस के जांनशीन मुल्ला मंसूर के लिए हिमायत का ऐलान कर दिया है।

न्यूज़ एजैंसी रोइटर्स ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि अगरचे इस ख़बर की तसदीक़ के लिए मुल्ला उमर के अज़ीज़ों के साथ राबिता नहीं हो सका है ताहम मुल्ला उमर के बेटे के एक क़रीबी साथी ने इस अमर की तसदीक़ की है कि मुल्ला मंसूर की जानिब से आठ मुतालिबात की एक फ़ेहरिस्त तस्लीम किए जाने के बाद एक खु़फ़ीया तक़रीब में समझौते का जश्न मनाया गया।

अपना नाम ज़ाहिर ना करने की शर्त पर उस क़रीबी साथी का कहना था: मुल्ला मंसूर ने ये तमाम मुतालिबात मान लिए हैं। इन मुतालिबात में क़यादती कौंसिल के ढाँचे को अज़सरे नव तशकील करना और इत्तिफ़ाक़े राय के साथ साथ फ़ैसले करना शामिल था।

तालिबान के सरकारी तर्जुमान ने मुल्ला मंसूर की नुमाइंदगी करते हुए इस अमर की तसदीक़ की कि जिन तरामीम पर इत्तिफ़ाक़ हुआ है, उन्हें दरहक़ीक़त अमली शक्ल दी जाएगी।

Top Stories