Saturday , December 16 2017

क़ैदी खिलाड़ियों की मदद ना करने का फ़ैसला

ईस्लामाबाद 17 नवंबर (ए एफ़ पी ) पाकिस्तानी वज़ारत-ए-दाख़िला ने एसपाट फिक्सिंग केस में बर्तानिया में क़ैद तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों के केस की पैरवी करने के वज़ीर-ए-दाख़िला रहमान मलिक के ऐलान पर अंदरून-ओ-बैरून-ए-मुल्क से होने वाली तन्क

ईस्लामाबाद 17 नवंबर (ए एफ़ पी ) पाकिस्तानी वज़ारत-ए-दाख़िला ने एसपाट फिक्सिंग केस में बर्तानिया में क़ैद तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों के केस की पैरवी करने के वज़ीर-ए-दाख़िला रहमान मलिक के ऐलान पर अंदरून-ओ-बैरून-ए-मुल्क से होने वाली तन्क़ीद के बाद इन खिलाड़ियों के केस की पैरवी ना करने और अपनी टीम बर्तानिया ना भिजवाने का फ़ैसला किया है ।

वज़ारत-ए-दाख़िला के ज़राए के मुताबिक़ एसपाट फिक्सिंग केस में बर्तानिया में क़ैद तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों मुहम्मद आसिफ़,मुहम्मद आमिर और सलमान बट के केस की पैरवी वज़ारत-ए-दाख़िला नहीं करेगी। इस के इलावा एफ़ आई ए की टीम भी बर्तानिया नहीं भेजी जाएगी। वज़ारत-ए-दाख़िला के ज़राए का कहना है कि बर्तानिया की कराऊँ कोर्ट का फ़ैसला बिलकुल दरुस्त है , तीनों क्रिकेटरस पाकिस्तान की बदनामी का बाइस बने हैं, एफ़ आई ए एन क्रिकेटर्ज़ से पाकिस्तान में भी तहक़ीक़ात करेगी।

याद रहे एसपाट फिक्सिंग मुक़द्दमा में अदालत ने पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के साबिक़ कप्तान सलमान बट को 30 माह, फ़ासट बोलर मुहम्मद आसिफ़ को 2 साल और नौजवान बोलर मुहम्मद आमिर को 6 माह की क़ैद की सज़ा दी है और वो लंदन की जेल में अपनी सज़ा काट रहे हैं। इलावा अज़ीं आई सी सी की जानिब से सलमान बट पर 10 साल, आसिफ़ पर 7 साल और आमिर पर 5 साल पाबंदी आइद है ।

TOPPOPULARRECENT