Tuesday , December 12 2017

क़ौमी कौंसिल बराए फ़रोग़ उर्दू के डिप्लोमा कोर्सेस में दाख़िले

सेक्रेटरी अलरहमन एजूकेशनल सोसाइटी करनूल डॉ के जैन उल अबिदीन की इत्तेला की बमूजब क़ौमी कौंसिल बराए फ़रोग़ उर्दू ज़बान नई दिल्ली की तरफ से अलरहमन एजूकेशनल सोसाइटी करनूल को फासलाती तालीम के एक साला डिप्लोमा कोर्स इन उर्दू लैंग्वेज ,दो

सेक्रेटरी अलरहमन एजूकेशनल सोसाइटी करनूल डॉ के जैन उल अबिदीन की इत्तेला की बमूजब क़ौमी कौंसिल बराए फ़रोग़ उर्दू ज़बान नई दिल्ली की तरफ से अलरहमन एजूकेशनल सोसाइटी करनूल को फासलाती तालीम के एक साला डिप्लोमा कोर्स इन उर्दू लैंग्वेज ,दो साला डिप्लोमा इन फ़ंकशनल अरबी कोर्स-ओ-एक साला सर्टीफ़िकेट कोर्स इन अरबिक लैंग्वेज की दरस-ओ-तदरीस की मंज़ूरी साल हाल भी हासिल है।

इन कोर्सस में दाख़िले के ख्वाहिशमंदों से दरख़ास्तें मतलूब हैं। दरख़ास्त फ़ार्म मा दस्तूर उल-अमल-ओ-कोर्स रजिस्ट्रेशन फ़ीस सिर्फ़ 200 रुपये है।

फ़ीस दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ 28 फ़रवरी मुक़र्रर है। तलबा के लिए कंटेक्ट क्लासस हफ़्ते में तीन रोज़ रोज़ाना एक घंटे की क्लास चलाए जाऐंगे। क्लास का आग़ाज़ 01 अप्रैल से होगा जिस में उम्मीदवार की हाज़िरी लाज़िमी है।

एक साला डिप्लोमा कोर्स इन उर्दू लैंग्वेज में दाख़िले के लिए अहलीयत :अंग्रेज़ी या हिन्दी ज़बान में सलाहीयत रखते हूँ। उम्र की कोई क़ैद नहीं है। दो साला डिप्लोमा इन फ़ंकशनल अरबी कोर्स में दाख़िले के लिए अहलीयत: अरबी की इबतिदाई तालीम मा क़वाइद इस के अलावा अरबी लिखने और समझने की सलाहीयत भी लाज़िमी। उम्र की कोई क़ैद नहीं।

एक साला सर्टीफ़िकेट कोर्स इन अरबक लैंग्वेज में दाख़िले के लिए अहलीयत:उर्दू की इबतिदाई तालीम मा क़वाइद इस के अलावा उर्दू पढ़ने लिखने-ओ-समझने की सलाहीयत भी लाज़िमी। उम्र की कोई क़ैद नहीं है।

डॉ जैन उल अबिदीन ने बताया कि क़ौमी कौंसिल इन कोर्सस को रोज़मर्रा इस्तेमाल होने वाली अरबी पढ़ने वाले तालिब-ए-इल्मों को मूसिर तक़ाज़ों से जोड़ने की एक बड़ी कोशिश की है और बावक़ार रोज़गार के मवाक़े की तैयारी में आसानी की ग़रज़ से उन कोर्सेज को जोड़ा गया है। लिहाज़ा कसीर तादाद में दाख़िले लेने की ख़ाहिश की। तफ़सीलात के लिए रब्त पैदा करें। डाक्टर के जैन उल अबिदीन सेक्रेटरी अलरहमन एजोकशीशनल सोसाइटी D.No: 9-239लाल मस्जिद रोड ,करनूल 518001।फ़ोन नंबर :08518-223314 सेल नंबर 9391352442।

TOPPOPULARRECENT