Sunday , December 17 2017

क़ौमी तराना के दौरान खड़ा न होने पर मुस्ल‍िम नौजवान गिरफ्तार, बेल भी खारिज

केरल में ज़िला सेशन अदालत ने जुमे के रोज़ एक मुसलमान नौजवान की जमानत की दरखास्त को खारिज कर दिया, जो क़ौमी तराना के दौरान सिनेमा हॉल में खड़ा नहीं हुआ था |

केरल में ज़िला सेशन अदालत ने जुमे के रोज़ एक मुसलमान नौजवान की जमानत की दरखास्त को खारिज कर दिया, जो क़ौमी तराना के दौरान सिनेमा हॉल में खड़ा नहीं हुआ था |

25 साल के एम सलमान पर आईपीसी की दफा 124 ए के तहत क़ौमी तराना के दौरान बैठे रहने और हूटिंग करने का मामला दर्ज हुआ है| क़ौमी परचम के लिए फेसबुक पर काबिल ऐतराज़ तब्सिरे करने के लिए उस पर आईटी एक्‍ट के तहत दफा 66 ए भी लगाई गई है| सलमान दो हफ्तों से जेल में बंद है|

सलमान की जमानत की दरखास्त को खा‍रिज करते हुए कोर्ट ने कहा कि सलमान का रवैय्या मुल्क के मुखालिफ है और उसका जुर्म कत्ल से भी ज्‍यादा संगीन है| सलमान के अलावा दिगर पांच लोगों पर भी गद्दारी का केस दर्ज है, जिनमें दो ख्वातीन भी हैं| इनमें से एक को Anticipatory bail भी मिल गई है|

आपको बता दें कि केरल में रियासत की मिल्कियत वाले थिएटर में हर फिल्‍म से पहले क़ौमी तराना चलाया जाता है और नाज़रीन को खड़े होने के लिए बोला जाता है| सलमान और उसके दोस्‍त ऐसे ही किसी थिएटर में फिल्‍म देखने गए थे और क़ौमी तराना के दौरान खड़े नहीं हुए| वहां बैठे नाज़रीन के एक ग्रुप को यह ठीक नहीं लगा और उसने इस बात का एहतिजाज किया|

Anticipatory bail मिले शख्‍स हरिहर शर्मा ने बताया, ‘थिएटर में क़ौमी तराना के दौरान खड़े ना होने की हमारी मर्जी के बगैर कुछ लोगों ने सवाल उठाया और हमें पाकिस्‍तान जाने को कहा| वो हमसे उलझे और बहस की| यही नहीं, कुछ गलत तब्सिरे कर के उन लोगों ने हमें उकसाया भी|’ शर्मा ने बताया कि इन लोगों ने फिर पुलिस को जाकर शिकायत की, इसी में सलमान भी क़ौमी तराना पर काबिल ऐतराज़ तब्सिरे करने के लिए पकड़ा गया |

हरिहर ने बताया, ’20 अगस्‍त को पुलिस ने हम सब को गिरफ्तार किया| हम सब घर से दूर रहते हैं और हमें डर था कि पुलिस कहीं हमें एंटी क़ौमी तंज़ीम (Anti-national organization)से जुड़ा हुआ न समझे|

जस्टिस फॉर सलमान फोरम के चेयरमैन बीआरपी भास्‍कर ने बताया, ‘सलमान के खिलाफ इल्ज़ाम गढ़े गए हैं| मरकज़ ने कहा है कि आवामी मुकामात पर क़ौमी तराना चलाना जरूरी नहीं है और अगर चलता भी है तो खड़ा होना जरूरी नहीं है| इसके लिए मुजरिमाना दफआत लगाना गलत है|’

TOPPOPULARRECENT