Saturday , May 26 2018

क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी में मज़ीद 500 ओहदेदारों की भर्ती

नई दिल्ली 7 नवंबर (पी टी आई) क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी के क़ियाम के 3 साल बाद इस में तौसीअ दी जा रही है। 3 नए दफ़ातिर की कुशादगी के इलावा इस तंज़ीम की अक्सरीयत में मौजूदा 400 ओहदेदारों से बढ़ाकर तक़रीबन 900 ओहदेदारों का इज़ाफ़ा किया जा रहा है।

नई दिल्ली 7 नवंबर (पी टी आई) क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी के क़ियाम के 3 साल बाद इस में तौसीअ दी जा रही है। 3 नए दफ़ातिर की कुशादगी के इलावा इस तंज़ीम की अक्सरीयत में मौजूदा 400 ओहदेदारों से बढ़ाकर तक़रीबन 900 ओहदेदारों का इज़ाफ़ा किया जा रहा है।

क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी को 2008-के मुंबई दहश्तगर्द हमलों के फ़ौरी बाद तशकील दिया गया था। इस के लिए बाक़ायदा पार्लीमैंट से क़ानून मंज़ूर किया गया और दहश्तगर्दी से मरबूत मुक़द्दमात से निमटने का उसे इख़तियार दिया गया है। वोज़ारत-ए-दाख़िला की तजवीज़ को हाल ही में काबीना की मंज़ूरी भी हासिल हुई है।

इस के साथ ही हुकूमत ने फ़ैसला किया है कि क़ौमी तहक़ीक़ाती एजैंसी की तादाद में तक़रीबन 500 का इज़ाफ़ा किया जाए। लखनव, कूची और मुंबई में भी दफ़ातिर खोले जाएंगी। नए ओहदेदारों की भर्ती का अमल शुरू होचुका है इस के लिए रास्त भर्ती के इलावा डेपोटेशन पर भी ख़िदमात हासिल किए जाएंगी। नए अमले की भर्ती के लिए मंज़ूरी मिल चुकी है। 3 शहरों में तहक़ीक़ाती एजैंसी के दफ़ातिर का क़ियाम इस लिए ज़रूरी था क्योंकि दहश्तगर्द सरगर्मीयों में इज़ाफ़ा हुआ है।

TOPPOPULARRECENT