Sunday , December 17 2017

क़ज़ाफ़ी के फ़र्ज़ंद ख़मीस अगस्त के दौरान हलाक, क़रीबी ज़राए की तौसीक़

तरबल्स। 18 अक्टूबर ( ए एफ़ पी) क़ज़ाफ़ी के हामी एक टेलीविज़न चैनल में तौसीक़ की है कि लीबिया के माज़ूल रहनुमा के सब से छोटे फ़र्ज़ंद ख़मीस अगस्त के दौरान क़ौमी उबूरी कौंसल के इन्क़िलाबी जंगजूओं से घमसान लड़ाई के दौरान हलाक होचुके हैं। दमिशक़ के

तरबल्स। 18 अक्टूबर ( ए एफ़ पी) क़ज़ाफ़ी के हामी एक टेलीविज़न चैनल में तौसीक़ की है कि लीबिया के माज़ूल रहनुमा के सब से छोटे फ़र्ज़ंद ख़मीस अगस्त के दौरान क़ौमी उबूरी कौंसल के इन्क़िलाबी जंगजूओं से घमसान लड़ाई के दौरान हलाक होचुके हैं। दमिशक़ के नशरियाती इदारे अलराई ने कहा है कि 29 अगस्त को शुमाल मग़रिबी तराबल्स में वतन के दुश्मनों से झड़प के दौरान ख़मीस जांबाहक़ हुए। शाम का ये नशरियाती इदारा क़ज़ाफ़ी के हामीयों का एक पसंदीदा फ़ोर्म बन गया है जहां से क़ज़ाफ़ी और उन के अफ़राद ख़ानदान के बारे में तौसीक़ शूदा ख़बरें नशर की जाती हैं। ख़मीस के चचाज़ाद भाई मुहम्मद जो साबिक़ एनटलीजनस सरबराह अबदुल्लाह अलसनोसी के फ़र्ज़ंद हैं इसी वाक़िया में हलाक हुए हैं। ये पहला मौक़ा है कि क़ज़ाफ़ी के हामी किसी नशरियाती इदारे में ख़मीस की हलाकत की तौसीक़ की है। अगरचे आलमी ज़राए इबलाग़ पहले कई मर्तबा ख़मीस की मौत की ख़बर दे चुका है लेकिन क़ज़ाफ़ी के क़रीबी हलक़ों ने इस की तरदीद की थी।

TOPPOPULARRECENT