Sunday , December 17 2017

ख़वातीन को मुनासिब लिबास पहनने तेलुगु देशम एम पी के रिमार्क पर हंगामा

तेलुगु देशम रुकने पार्लियामेंट ने लोक सभा में ख़वातीन के लिबास से मुताल्लिक़ एक रेमार्क करते हुए हंगामा बरपा कर दिया।

तेलुगु देशम रुकने पार्लियामेंट ने लोक सभा में ख़वातीन के लिबास से मुताल्लिक़ एक रेमार्क करते हुए हंगामा बरपा कर दिया।

उन्हों ने ख़वातीन से कहा कि वो मुनासिब और मोतबर लिबास ज़ेब तन करें। इस रिमार्क पर लोक सभा की ख़ातून अरकान ने एहतेजाज किया। इन में से एक ख़ातून रुकन ने तेलुगु देशम एम पी के ताल्लुक़ से कहा कि कुर्सी-ए-सदारत को हुक्म देना चाहीए कि वो एवान से बाहर चलेंगे।

ये मसला ख़वातीन और बच्चों पर ज़ुलम-ओ-ज़्यादती के मौज़ू पर होने वाले मुबाहिस के दौरान उस वक़्त पैदा हुआ जब तेलुगु देशम रुकने पार्लियामेंट एम मुरली मोहन ने कहा कि ख़वातीन को मुअज़्ज़िज़-ओ-मोतबर लिबास पहनना चाहीए।

मुरली मनोहर ने कहा कि हमारी हिंदुस्तानी तहज़ीब और रवायात को बरक़रार रखने की ज़रूरत है। में अपनी तमाम बहनों ,बेटीयों और लड़कीयों से अपील करता हूँ कि वो मोतबर और मुअज़्ज़िज़ लिबास ज़ेब-ए-तन करें।

उनके इस रिमार्कस का सख़्त नोट लेते हुए सुप्रिया सोले (एन सी पी) और कुमारी सुष्मीता देव( कांग्रेस) के बिशमोल कई ख़ातून अरकाने पार्लियामेंट ने एहतेजाजी मुज़ाहरा किया और मुतालिबा किया कि इस रिमार्क को हज़फ़ करलिया जाये और मुरली मोहन से कहा जाये कि वो एवान से चले जाएं।

इन का रिमार्क क़ाबिल एतेराज़ है। कुर्सी-ए-सदारत पर मौजूद हुक्म सिंह ने एहतेजाजी ख़ातून अरकान को ख़ामोश करने की कोशिश की और कहा कि में इस मसले का जायज़ा लूंगा। ये एक बहुत ही नाज़ुक मुआमला है। में भी ख़वातीन से इत्तिफ़ाक़ रखता हूँ। एवान में इस तरह के रिमार्कस नहीं होना चाहीए ,आप मुतमइन राए कुर्सी-ए-सदारत की तरफ से मुनासिब फ़ैसला किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT