Monday , December 11 2017

ख़वातीन पर मज़ालिम के मामले में उत्तरप्रदेश सर-ए-फ़हरिस्त

नई दिल्ली: हुकूमत ने बताया कि ख़वातीन के ख़िलाफ़ मज़ालिम बिशमोल घरेलू तशद्दुद और इस्मत रेज़ि के 9,700 केसेस जारिया साल एक‌ अप्रैल से अब तक दर्ज किए गए हैं जिस में उत्तरप्रदेश सर-ए-फ़हरिस्त है। ये केसेस क़ौमी कमीशन बराए ख़वातीन के पास जारिया मालीयाती साल के दौरान दर्ज करवाए गए हैं।

लोक सभा में तफ़सीलात पेश करते हुए वज़ीर बहबूद ख़वातीन-ओ-इतफ़ाल मेनका गांधी ने बताया कि हुक़ूक़ ख़वातीन की पामाली की वजूहात में घरेलू तशद्दुद , ख़वातीन के साथ दस्त दराज़ी , जहेज़ के लिये हिरासानी , जायदाद का तनाज़ा और इस्मत रेज़ि शामिल है। रियासतों और मर्कज़ी ज़ेरे इंतेज़ाम इलाक़ों से मौसूला आदाद-ओ-शुमार के मुताबिक़ हुक़ूक़ ख़वातीन की ख़िलाफ़वरज़ी के मामले में उत्तरप्रदेश सर-ए-फ़हरिस्त है।

जारिया मालीयाती साल के दौरान उत्तरप्रदेश में 6110 , दिल्ली में 1179 , हरियाणा में 504 , राजस्थान में 447 और बिहार में 256 केस दर्ज किए गए हैं।

TOPPOPULARRECENT