Tuesday , January 23 2018

ख़ातून आज़िम हज को सऊदी एयरपोर्ट से वापिस भेज दिया गया

हैदराबाद 05 सितंबर: नलगेंडा से ताल्लुक़ रखने वाली एक ख़ातून आज़िम हज को सऊदी हुक्काम ने जेद्दाह एयरपोर्ट से वापिस कर दिया है। इस ख़ातून आज़िम के वीजे पर ग़लती से किसी और का पासपोर्ट नंबर दर्ज कर दिया गया जिसके सबब सऊदी हुक्काम ने उन्हें एरपोर्ट पर ही रोक दिया और हिन्दुस्तानी सिफ़ारती ओहदेदारों से रब्त क़ायम करते हुए उनकी वापसी का इंतेज़ाम किराया।

बताया जाता हैके सेंट्रल हज कमेटी जो आज़मीन के वीजा इंडोर्समेंट की ज़िम्मेदार है इस की टेक्नीकल ग़लती के सबब अख़तर उन्नीस नामी आज़िम के पासपोर्ट पर लगाए गए वीजा पर अख़तर उन्नीस नामी किसी और आज़िम का पासपोर्ट नंबर दर्ज कर दिया गया।

ये ख़ातून अपने पाँच अरकाने ख़ानदान के साथ हज के लिए रवाना हुई थीं। रवानगी के मौके पर शम्सआबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन हुक्काम ने इस ख़ातून को रोका और बताया कि वीज़ा पर दर्ज शूदा पासपोर्ट नंबर से ताल्लुक़ रखने वाली ख़ातून पहले ही सऊदी अरब रवाना हो चुकी हैं।

इस मरहले पर हज कमेटी और एयर-इंडिया के हुक्काम ने तहरीरी तौर पर इस ख़ातून के हक़ में वज़ाहत पेश की जिसके बाद उन्हें रवानगी की इजाज़त दी गई ताहम जेद्दाह एयरपोर्ट पर सऊदी इमीग्रेशन हुक्काम ने इस ख़ातून को रोक दिया।

स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एस ए शकूर ने जद्दा में हिन्दुस्तानी क़ौंसिलख़ाना के हुक्काम से रब्त क़ायम किया जिस पर सिफ़ारती ओहदेदार जेद्दाह पहुंच गए।

सेंट्रल हज कमेटी की इस टेक्नीकी ख़ामी के सबब आख़िर-ए-कार इस ख़ातून को हैदराबाद वापिस करने का फ़ैसला किया गया और इस ख़ातून के हमराह इनके शौहर भी हैदराबाद वापिस हो रहे हैं।

उन्हें इंडियन कौंसुलेट की तरफ से वापसी का टिकट फ़राहम किया गया है। प्रोफेसर एस ए शकूर ने बताया कि हैदराबाद वापसी के साथ ही उनके लिए नए वीजे का इंतेज़ाम करते हुए सऊदी अरब रवाना किया जाएगा। तवक़्क़ो हैके उन्हें 8 सितंबर की फ़्लाईट से सफ़र हज पर भेजा जाएगा।

TOPPOPULARRECENT