Wednesday , November 22 2017
Home / Crime / ख़ादिम अलहजाज के इंतेख़ाब के नाम पर बेरोज़गार नौजवानों को झांसा

ख़ादिम अलहजाज के इंतेख़ाब के नाम पर बेरोज़गार नौजवानों को झांसा

epa03909813 Muslim pilgrims pray at the top of the Mount of Mercy (also called Mount Arafat), on the second day of the Muslim's Hajj 2013 pilgrimage, in Mina near Mecca, Saudi Arabia, 14 October 2013. The Hajj - a pilgrimage that a Muslim should do at least once in a lifetime - in 2013 takes place between 13 and 17 October. EPA/ALI HASSAN

हैदराबाद 26 अगस्त:शहर में रोज़गार के नाम पर मुख़्तलिफ़ अंदाज़ से झांसा देने के वाक़ियात के बाद अब एक नए अंदाज़ से मज़हब का इस्तेमाल किया जा रहा है। चूँकि अब हज 2015 सीज़न का आग़ाज़ हो रहा है। आज़मीने हज्ज की ख़िदमत के नाम पर रोज़गार के झांसे का एक बड़ा रैकेट बेनक़ाब हो गया।

ताख़ीर से मंज़र-ए-आम पर आए इस वाक़िये के बाद पुलिस स्टेशनों से रुजू होने वालों की तादाद वक़्त के लिहाज़ से बढ़ती जा रही है। आज़मीने हज्ज की ख़िदमत के लिए दरकार ख़ादिम अलहजाज के मवाक़े फ़राहम करने का झांसा देकर सैंकड़ों बेरोज़गार अफ़राद को धोका दिया गया।

पुराने शहर के इलाके मादन्नापेट और संतोषनगर ही तक महदूद समझे जा रहे इस धोका दही का मुआमला बैन रियासती धोका दही का रैकेट तसव्वुर किया जा रहा है।

हुज्जाज की ख़िदमात के साथ साथ बेहतरीन रोज़गार के अलावा हुज्जाज की ख़िदमत के अज़ीम मौके की आस बताकर इन बेरोज़गार नौजवानों का इस्तिहसाल किया गया। ताहम मुतास्सिरा नौजवानों की शिकायत पर संतोषनगर और मादन्नापेट पुलिस स्टेशनस में मुक़द्दमात दर्ज करलिए गए हैं।

TOPPOPULARRECENT