Wednesday , December 13 2017

ख़ानगी इंजीनीयरिंग कॉलेजों की दरख़ास्त मुस्तर्द

ख़ानगी इंजीनीयरिंग कॉलेजों के चंद इंतेज़ामीया जिन्होंने वैब कौंसलिंग की इजाज़त की दरख़ास्त की थी उन्हें हैदराबाद हाईकोर्ट से आज मनफ़ी जवाब मौसूल हुआ।

ख़ानगी इंजीनीयरिंग कॉलेजों के चंद इंतेज़ामीया जिन्होंने वैब कौंसलिंग की इजाज़त की दरख़ास्त की थी उन्हें हैदराबाद हाईकोर्ट से आज मनफ़ी जवाब मौसूल हुआ।

तक़रीबन 174 ख़ानगी इंजीनीयरिंग कॉलेजों के इंतेज़ामीया ने उन्हें वैब कौंसलिंग के ज़मुरा की फ़हरिस्त में शामिल करने की और मंगल से होने वाली इंजीनीयरिंग कौंसिल पर हुक्मुलतवा जारी करने की दरख़ास्त की थी ताहम अदालत ने इस दरख़ास्त को मुस्तर्द करते हुए मुक़द्दमा की आइन्दा समाअत 22 अगस्ट को मुक़र्रर की है। यहां ये बात काबिले ज़िकर हैके ख़ानगी इंजीनीयरिंग कॉलेजों के इंतेज़ामीया ज ने हाईकोर्ट में एक दरख़ास्त दायर करते हुए जय एन टी यू से अपने अलहाक़ की मंसूख़ी से मुताल्लिक़ हुकूमत के फ़ैसले को चैलेंज किया था।

TOPPOPULARRECENT