ख़ुर्दनी तेल की ज़ाइद पैदावार का मुल्कगीर प्रोजेक्ट

ख़ुर्दनी तेल की ज़ाइद पैदावार का मुल्कगीर प्रोजेक्ट
सी सी आई आर और इंडियन इंस्टीटियूट ऑफ़ केमीकल टैक्नॉलोजी (आई आई सी टी) ने ख़ुर्दनी और ग़ैर ख़ुर्दनी तेलों को क़ुदरती ज़राए के साथ पैदा करने के लिए एक प्रोजेक्ट का आग़ाज़ किया है। ख़ुर्दनी और ग़ैर ख़ुर्दनी तेल की पैदावार के दौरान सेहत के फ़वाइद

सी सी आई आर और इंडियन इंस्टीटियूट ऑफ़ केमीकल टैक्नॉलोजी (आई आई सी टी) ने ख़ुर्दनी और ग़ैर ख़ुर्दनी तेलों को क़ुदरती ज़राए के साथ पैदा करने के लिए एक प्रोजेक्ट का आग़ाज़ किया है। ख़ुर्दनी और ग़ैर ख़ुर्दनी तेल की पैदावार के दौरान सेहत के फ़वाइद के पहलूओं को भी मल्हूज़ रखा जाएगा। इन ख़ुर्दनी और ग़ैर ख़ुर्दनी तेलों की पैदावार के लिए नामालूम क़ुदरती बीजों और ज़राए को तलाश किया जाएगा और इस का इस्तेमाल किया जाएगा।

ये मुल्कगीर सतह का प्रोजेक्ट है जिस पर कई इदारे बाशमोल सी एस आई आर नेशनल इंस्टीटियूट ऑफ़ इंटर डिसिप्लीनरी साईंस ऐंड टैक्नॉलोजी (सी एस आई आर एन आई आई एस टी) ट्रीवेन्डरम, सी एस आई आर नॉर्थ ईस्ट इंस्टीटियूट ऑफ़ साईंस ऐंड टेक्नॉलोजी (एस आई आर – एन ई आई एस टी) जोरहाट, सी एस आई आर इंडियन इंस्टीटियूट ऑफ़ पैट्रोल (आई आई पी) देहरादून,

सी एस आई आर नेशनल केमीकल लेबोरेट्री (सी एस आई आर – एन सी ईल) पूने, सी एस आई आर सेंट्रल फ़ूड टैक्नॉलोजीकल रिसर्च इंस्टीटियूट (सी एस आई आर – सी एफ़ टी आर आई) और सी एस आई आर – आई आई सी टी हैदराबाद मुशतर्का तौर पर काम कर रहे हैं।

Top Stories