Sunday , December 17 2017

ख़्वातीन को गुजारे भत्ते की जरूरत क्यों…!

नई दिल्ली: शौहर से गुजारा भत्ता मांगने वाली ख़्वातीन के लिए बुरी खबर है। शौहर पति से गुजारा भत्ता मांगना अब मुश्किल पड सकता है।

अदालत ने माना कि जब मर्द कमा सकते है, तो ख़्वातीन क्यों नहीं। एक मामले में अदालत ने यह अहम फैसला सुनाया है। साथ ही शौहर से गुजारा भत्ता मांगने वाली खातून की मांग को खारिज कर दिया।

अदालत ने कहा कि आज के दौर में ख़्वातीन से घर में माली/ इक्तेसादी मदद की उम्मीद की जाती है, ना कि बेकार बैठने की। खातून की तरफ से की गई गुजारे की मांग को खारिज करते हुए अदालत ने कहा कि खातून ने खुद यह कुबूल किया है कि उसने ब्यूटिशन का कोर्स किया है जिसका मतलब है कि उसके पास काम करने और कमाने का हुनर तो है, लेकिन इसके बावजूद वह काम करना नहीं चाहती।

मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट मोना टारडी ने फैसला सुनाते हुए कहा कि मजकूरा खातून ने खुद कुबूल किया है कि उसने ब्यूटिशन का कोर्स किया है।

TOPPOPULARRECENT