Saturday , December 16 2017

ग़लत ईलाज से नौजवान की मौत

डाक्टरों के भेस में इंसानी जानों के सौदागरों ने पैसा कमाने के लालच में एक कसीर‍ उल‍ अयाल ख़ानदान के वाहिद कफ़ील ज़िम्मेदार मुस्लिम नौजवान की जान ले ली, जिसके नतीजा में एक तरफ़ एक ख़ानदान ने अपना होनहार फ़र्ज़ंद खो दिया और दूसरी तरफ़ डाक

डाक्टरों के भेस में इंसानी जानों के सौदागरों ने पैसा कमाने के लालच में एक कसीर‍ उल‍ अयाल ख़ानदान के वाहिद कफ़ील ज़िम्मेदार मुस्लिम नौजवान की जान ले ली, जिसके नतीजा में एक तरफ़ एक ख़ानदान ने अपना होनहार फ़र्ज़ंद खो दिया और दूसरी तरफ़ डाक्टरों की लापरवाही को लेकर अवाम में तशवीश की लहर दौड़ गई है।

गुज़श्ता रोज़ तानडोर मैं रौनुमा हुए एक अफ़सोसनाक वाक़्या में एक मुस्लिम नौजवान की दौरान-ए-इलाज मौत वाक़्य हो गई। तफ्सीलात के बमूजब गुज़श्ता साल रमज़ान के मौक़ा पर डी सी एम एस कामप्लेक़्स चंचोली रोड पर वाक़्य अपनी टी वी शाप सफ़ाई के बाद से अबदाल नईम को नाक में तकलीफ़ होने लगी।

जिसका उन्होंने क़रीब के एक ख़ानगी दवाखाने में ईलाज करवाया ताहम उन्हं इफ़ाक़ा नहीं हो पाया। मगर डाक्टर उन्हें तसल्ली दे कर रुपय बटोरते रहे कि ये और ये गोलीयां खाने से आप को आराम हो जाएगा। इस तरह वक़्त गुज़रता गया और नईम की हालत बिगड़ती गई, जब बात मुक़ामी डाक्टरों के बस से बाहर हो गई तो नईम को तशवीशनाक हालत में हैदराबाद मुंतक़िल किया गया जहां बरोज़ जुमा अबदुल नईम की मौत वाक़्य हो गई।

मज़कूरा वाक़्या की इत्तेला पाकर रुकन असेंबली डाक्टर पी महेन्द्र रेड्डी ने मुतवफ़्फ़ी की क़ियामगाह पहुंच कर मरहूम के वालिद अबदुल अज़ीज़ उर्फ़ छोटू भाई से मुलाक़ात करते हुए हालात से वाक़्फ़ीयत हासिल की और मुक़ामी डाक्टरों के तरीक़ा-ए-इलाज पर शदीद ब्रहमी ज़ाहिर करते हुए कहा कि मज़कूरा नर्सिंग होम के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने मे वो भरपूर मदद देंगे और अपनी तरफ़ से भी रुकन असेंबली ने इम्दाद की पेशकश की।

जिस पर मुतावफ़्फ़ी के ग्यूर ( गरीब) बाप ने कहा कि मौत और हयात अल्लाह के हाथ है साहिब, हमें किसी से कोई शिक़्वा नहीं ही।

TOPPOPULARRECENT