Thursday , December 14 2017

ग़लत और यकतरफ़ा तक़सीम से आंध्र प्रदेश को भारी नुक़्सानात

चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि (आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद) तीन माह गुज़र चुके हैं (मर्कज़ की तरफ़ से मुक़र्रर करदा माहिरीन की कमेटी कोई )रिपोर्ट नहीं दी है।

चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि (आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद) तीन माह गुज़र चुके हैं (मर्कज़ की तरफ़ से मुक़र्रर करदा माहिरीन की कमेटी कोई )रिपोर्ट नहीं दी है।

अब अवाम में शकूक-ओ-शुबहात पैदा होरहे हैं कि (चंद्रबाबू) क्युं नहीं कह रहे हैंके किस शहर को दारुल हुकूमत बनाया जाएगा? वो (चंद्रबाबू) हैदराबाद में क्युं बैठे हुए हैं? वो (नई रियासत आंध्र प्रदेश को) क्युं नहीं आरहे हैं? इन शुबहात में मुसलसिल इज़ाफ़ा होरहा है।

माहिरीन की कमेटी अपने फ़राइज़ अंजाम दे रही है जिस को (इख़तेताम अगस्ट तक वक़्त दिया गया) चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि मालिया और वसाइल की तक़सीम से भी कई मसाइल और तनाज़आत पैदा होते हैं। एसा मालूम होता हैके कांग्रेस ने इस के लिए जिस हद तक भी मुम्किन होसका मसाइल और तनाज़आत पैदा की है।

TOPPOPULARRECENT