Monday , December 18 2017

ग़ाज़ा सिटी पर इसराईल के ख़तरनाक फ़िज़ाई हमले , 15 फ़लस्तीनी जांबाहक़

ग़ाज़ा सिटी, १६ नवंबर (ए एफ़ पी) इसराईल ने फ़लस्तीन पर फ़िज़ाई हमलों का सिलसिला बदस्तूर जारी रखा और आज के ताज़ा हमलों में मज़ीद 3 फ़लस्तीनी शहरी जांबाहक़(मृत) हो गए। इसके साथ ही ग़ाज़ा में शिद्दत पसंदों के ख़िलाफ़ शुरू की गई इस कार्रवाई में अब तक ह

ग़ाज़ा सिटी, १६ नवंबर (ए एफ़ पी) इसराईल ने फ़लस्तीन पर फ़िज़ाई हमलों का सिलसिला बदस्तूर जारी रखा और आज के ताज़ा हमलों में मज़ीद 3 फ़लस्तीनी शहरी जांबाहक़(मृत) हो गए। इसके साथ ही ग़ाज़ा में शिद्दत पसंदों के ख़िलाफ़ शुरू की गई इस कार्रवाई में अब तक हलाक होने वालों की तादाद 15 हो गई जबकि 100 अफ़राद ज़ख़मी हुए हैं।

शोबा तिब्ब से वाबस्ता ओहदेदारों ने बताया कि इसराईल के फ़िज़ाई हमलों का सिलसिला मुसलसल जारी है। हम्मास के मुसल्लह शोबा आज़ा-ए-उद्दीन अलक़ा सिम ब्रिगेड्स ने बताया कि तीन जांबाहक़ होने वाले में शोबा के अरकान थे और वो उस वक़्त हमले की ज़द में आए जब वो मोटर साईकल टैक्सी में सफ़र कर रहे थे।

इसराईली फ़ौज ने कल हम्मास के सरकरदा कमांडर को हलाक करते हुए ग़ाज़ा सिटी में नई कार्रवाई शुरू की है। फ़लस्तीनी अवाम का कहना है कि अब तक इसराईल ने तक़रीबन 60 फ़िज़ाई हमले किए। हम्मास ने बताया कि इसके दिफ़ाई शोबा आज़ा-ए-उद्दीन अलक़ा सिम ब्रिगेड के ऑपरेशनल कमांडर अहमद अलजाबरी अपने बॉडीगार्ड मुहम्मद अल हामस के हमराह ग़ाज़ा सिटी में इसराईल के इबतिदाई फ़िज़ाई हमलों में जांबाहक़ हुए।

इस हमले में कार को निशाना बनाया गया था। इस के फ़ौरी बाद इसराईल ने ग़ाज़ा पट्टी पर मज़ीद फ़िज़ाई हमले किए जिस में 5 अफ़राद बिशमोल दो बच्चे हलाक हो गए। ग़ाज़ा सिटी के शिफ़ा हॉस्पिटल में टेलीविज़न पर नशर की गई प्रेस कान्फ्रेंस में हम्मास के वज़ीर-ए-सेहत मुफ़ीद मक़ललाती ने ये बात बताई।

कल डॉक्टर्स ने फ़िज़ाई हमलों में मज़ीद एक शख़्स के हलाक होने की इत्तिला दी थी। ग़ाज़ा में हॉस्पिटल्स और मेडीकल सेटर्स को चौकस रहने का हुक्म दिया गया है क्योंकि इसराईल ने ख़बरदार किया है कि अहमद अल जाबरी को निशाना बनाना सिर्फ़ इब्तिदा है। इसराईल का दावा है कि सियोल और रिहायशी इलाक़ों में असलाह के काफ़ी ज़ख़ाइर पाए जाते हैं।

हम्मास के अल‍ अक़्सा टेलीविज़न ने चहारशंबा को एम्बूलेंस गाड़ियां सड़कों पर फुर्ती कब दिखाएंगे जिन में ज़ख्मीयों को पुरहुजूम इमरजेंसी रूम्स बिशमोल शिफ़ा हॉस्पिटल्स मुंतक़िल किया जा रहा था। एक शख़्स को अपने लड़के को धमाका के मुक़ाम से दूर ले जाते हुए और दूसरे दो अफ़राद को एक मुअम्मर शख़्स को ज़द में आने से बचाने की कोशिश करते हुए भी दिखाया गया।

इसराईल और ग़ज़ा में वाक़्य ( स्थित) इस्लाम पसंद ग्रुप्स के एक दूसरे पर हमलों ने काफ़ी संगीन सूरत-ए-हाल इख्तेयार कर ली है। हम्मास ज़ेर-ए-इंतज़ाम इलाक़ा से तक़रीबन 120 राकेट्स यहूदी इलाक़ों में फ़ायर किए गए। इसराईल ने फ़िज़ाई हमले और शलबारी करते हुए 7 फ़लस्तीनीयों को हलाक कर दिया था।

शहीद अल जाबरी एक हफ़्ता क़बल अदायगी हज के बाद ग़ज़ा लौटे थे

फ़लस्तीनी इस्लाम पसंदों ने सोश्यल नेटवर्किंग साईट यू टयूब पर एक वीडीयो अपलोड की जिस में अहमद अल जाबरी पर इसराईली मिज़ाईल हमलों के बाद के मुनाज़िर ( मंज़र) दिखाए गए हैं। ये भी इन्किशाफ़ ( ज़ाहिर) किया गया है कि शहीद अहमद अल ज़ाबरी एक हफ़्ता क़बल ही फ़रीज़ा हज की अदायगी के बाद ग़ाज़ा वापस आए थे।

वीडीयो में फ़लस्तीनी नौजवानों के एक ग्रुप को हमले के फ़ौरी बाद तबाह शूदा कार से अल जाबरी के जिस्मानी आज़ा को जो इधर उधर बिखर गए थे, जमा करते हुए दिखाया गया।

इख़वान अल मुस्लिमीन की इसराईली हमलों की मुज़म्मत, कल मिलीयन मार्च

मिस्र में हुक्मराँ इख़वान अल मुस्लिमीन ने फ़लस्तीनी अवाम के साथ इज़हार यगानगत करते हुए इसराईली हमलों की सख़्त मुज़म्मत की और उसे आलमी इंसानी हुक़ूक़ की संगीन ख़िलाफ़वरज़ी क़रार दिया। क़ाहिरा में इख़वान अल मुस्लिमीन के दफ़्तर से जारी करदा बयान में कहा कि फ़लस्तीनी अवाम के इज़हार-ए-हमदर्दी के तौर पर जुमा को एहतिजाजी मुज़ाहिरे किए जाएंगे और मुल्क में इन्क़िलाब की अलामत तहरीर स्क़्वायर पर अवामी इजतिमा का इनइक़ाद अमल में आएगा जिसे मिलीयन मार्च का नाम दिया गया है।

इख़वान अल मुस्लिमीन ने कहा कि ग़ाज़ा पट्टी पर इसराईली हमले जारहीयत और आलमी बिरादरी-ओ-इंसानी हुक़ूक़ की अलमबरदार तंज़ीमों के लिए लम्हा फ़िक्र है। मिस्र की इख़वान अल मुस्लिमीन हुकूमत ने भी इसराईल के फ़िज़ाई हमलों और सूरत-ए-हाल के अबतर होने पर तशवीश का इज़हार किया है।

TOPPOPULARRECENT