Tuesday , December 12 2017

ग़ैर अख़लाक़ी सरगर्मियों से दूर रहें तलबा

तलबा ग़ैर अख़लाक़ी सरगर्मीयों से इजतिनाब करते हुए मुल्क और समाज की तामीराती कामों में हिस्सा लेकर मुल्क और क़ौम की तरक़्क़ी में अहम रोल अदा करें।

तलबा ग़ैर अख़लाक़ी सरगर्मीयों से इजतिनाब करते हुए मुल्क और समाज की तामीराती कामों में हिस्सा लेकर मुल्क और क़ौम की तरक़्क़ी में अहम रोल अदा करें।

समाज की तामीर में अपने इलम और सलाहीयतों के ज़रीये मुस्तक़बिल ताबनाक बनाने के लिए संजीदा होजाएं। कॉलेज का दूर बहुत ही ख़ूबसूरत होता है इस दौर को अपने मुल्क और क़ौम की मुस्तक़बिल की तरक़्क़ी के लिए इस्तेमाल करें और इलम के ज़ेवर से आरास्ता होकर अवाम की ख़िदमात के लिए आगे आएं।

इन ख़्यालात का इज़हार रुकने असेंबली मदहोल रेवती वीनू गोपाल चारी गर्वनमेंट जूनियर कॉलेज भैंसा कॉलेज में मुनाक़िदा तक़रीब को मुख़ातब करने के दौरान किया।

भैंसा गर्वनमेंट जूनियर कॉलेज स्पोर्टस डे तक़रीब का इनइक़ाद किया गया इस प्रोग्राम में एजाज़ अहमद ख़ान साबिक़ा नायब सदर नशीन बलदिया भैंसा ,मुहम्मद नूर उद्दीन सदर मुदर्रिस गर्वनमेंट हाई स्कूल भैंसा ,फ़र्ख़ंदा अली ख़ान लेक्चरर, अबदुलहफ़ीज़ लेक्चरर के अलावा दुसरे ज़िम्मा दारां कॉलेज और तलबा की कसीर तादाद मौजूद थी ,इस तक़रीब को मुख़ातब करते हु मुहम्मद अबदुलख़ालिक़ प्रिंसिपल गर्वनमेंट जूनियर कॉलेज भैंसा ने कॉलेज की सालाना रिपोर्ट और मसाइल से ज़िम्मा दारान को वाक़िफ़ करवाया।

दौरान ख़िताब रेवती ने कहा कि कॉलेज देर तलबा के लिए बहुत ही एहमीयत का हामिल होता है। और इस दौर से तलबा अपना मुस्तक़बिल सँवारते हैं अगर इस दौर का सही इस्तिफ़ादा नहीं किया गया तो वक़्त गुज़ारी के अल्लाह कुछ और हासिल नहीं होगा ।

ज़रूरत इस बात की हैके हम इस के हुसूल के लिए संजीदगी के साथ अपने वक़्त का इस्तेमाल करना चाहीए ।ताकि आने वाले मुस्तक़बिल में किसी किस्म की मुश्किलात का सामना ना करना पड़े और ना ही पछतावा हो।

TOPPOPULARRECENT