Sunday , December 17 2017

ज़बीहा गाव का मसला बाबरी मस्जिद मसले से ज़्यादा संगीन:राम पुनियानी

हैदराबाद 10 अगस्त: मुल्क में बीजेपी की ज़ेरे क़ियादत एनडीए हुकूमत के इक़तिदार में आने के बाद से दलितों , मुसलमानों , कबायलियों, माक़ूलीयत पसंदों और ख़वातीन पर मज़ालिम में इज़ाफ़ा हुआ है और ये सब कुछ सिर्फ और सिर्फ सियासी मक़ासिद के हुसूल और हिंदूतवा के एजंडे पर अमल आवरी को यक़ीनी बनाने के लिए किया जा रहा है। इन ख़्यालात का इज़हार इन्सानी हुक़ूक़ के जहदकार हिंदू मुस्लिम इत्तेहाद के अलमबरदार अदीब और फ़िर्क़ापरस्तों को उनका हक़ीक़ी चेहरा दिखाने के लिए मशहूर राम पुनियानी ने अपने ख़ुसूसी लेक्चर में किया। जिसका एहतेमाम सियासत के महबूब हुसैन जिगर हाल में रोज़नामा सियासत और स्वाराज अभियान अमन कमेटी ने किया था। एडिटर सियासत ज़ाहिद अली ख़ां ने सदरात की।

मुल्क में फिर्कावाराना हम-आहंगी के फ़रोग़ की ख़ातिर मुकम्मिल तौर पर मसरूफ़ होने के लिए आईआईटी मुंबई की बाविक़ार मुलाज़मत से स्तीफ़ा देने वाले राम पुनियानी ने अपने लेक्चर में नरेंद्र मोदी हुकूमत को आड़े हाथों लिया और कहा कि अगरचे मर्कज़ में बीजेपी की ज़ेरे क़ियादत एनडीए हुकूमत है लेकिन हर मुआमले में एक ही शख़्स छाया हुआ है। राम पुनियानी का कहना था कि मोदी हुकूमत ने तरक़्क़ी के बुलंद बाँग दावे किए थे। सब का साथ सब का विकास के नारा लगाए थे। अवाम को अच्छे दिनों के ख़ाब दिखाकर ये भी वादा किया था कि हर हिन्दुस्तानी के बंक एकाऊंट में 15 लाख रुपये जमा किए जाऐंगे लेकिन कोई भी वादा-वफ़ा ना हो सका।

सिर्फ एक ही आदमी (मोदी) की हुकूमत चल रही है। वो नाना शाह के रोल में अपनी पालिसीयों पर अमल करा रहा है। राम पुनियानी ने मोदी का नाम लिए बिना ये भी कहा कि वो झूट को सच्च बताने में माहिर हैं। वो इस क़दर झूट बोलते हैं कि सादा-लौह अवाम ये समझ बैठती है कि मुल़्क हक़ीक़त में तरक़्क़ी कर रहा है। इस ज़िमन में उन्होंने एड लुप्फ हिटलर और उनके वज़ीर प्रोपगंडा जोज़फ़ गोबपलज़ की मिसाल पेश करते हुए कहा कि गोबपलज़ कहता था कि आप किसी झूट को सौ-बार बोलीं तो लोग उसे सच्च मानने लगते हैं।

TOPPOPULARRECENT