Tuesday , December 12 2017

ज़मीन तहवील अराजी बिल पर हंगामा, ओपोजीशन का वॉक आउट

एसेम्बली में जुमा को ज़मीन अधिग्रहण कानून को लेकर जम कर हंगामा हुआ। सवाल जवाब नहीं चला। ओपोजीशन मेंबरों ने एवान के बाहर व अंदर मुजाहिरा किया। नारेबाजी की और कुर्सी को रिपोर्टियर्स टेबल पर उलट दी। स्पीकर दिनेश उरांव और संसदीय वज़ी

एसेम्बली में जुमा को ज़मीन अधिग्रहण कानून को लेकर जम कर हंगामा हुआ। सवाल जवाब नहीं चला। ओपोजीशन मेंबरों ने एवान के बाहर व अंदर मुजाहिरा किया। नारेबाजी की और कुर्सी को रिपोर्टियर्स टेबल पर उलट दी। स्पीकर दिनेश उरांव और संसदीय वज़ीर सरयू राय के लाख समझाने का ओपोजीशन पर कोई असर नहीं पड़ा।

लंच ब्रेक के बाद बजट पर चल रहे तनाजे पर हुकूमत का हक़ रखते हुए वज़ीर अमर बाउरी ने कहा कि झारखंड में ज़मीन अधिग्रहण कानून लागू करने से पहले अगर जरूरत हुई तो, इसमें तरमीम करेंगे। उन्होंने कहा कि झारखंड में इस कानून को लागू करने की ज़रूरत है। यह बिल रियासत के तरक़्क़ी के लिए लाया जा रहा है और अगर कोई जमीन नहीं देगा, तो रियासत की तरक़्क़ी कैसे होगा।

अमर बाउरी जुमा को एवान में आमदनी और ज़मीन बेहतरी महकमा की 4 अरब, 51 करोड़, 82 लाख की ग्रांट मांग पर हुकूमत की तरफ से जवाब दे रहे थे। इसी दौरान ओपोजीशन मेम्बर ज़मीन अधिग्रहण मेंडेंट के खिलाफ इवान से वॉक-आउट कर गए। इसके बाद अकसरियत की बुनियाद पर एवान में आमदनी और ज़मीन सुधार महकमा समेत टूरिज़म, पैदावार और खेल-कूद, नौजवान और आर्ट कल्चरल महकमा का बजट पास हो गया।

TOPPOPULARRECENT