Monday , December 11 2017

फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में एक फ़ौजी को सज़ाए उम्र कैद

श्रीनगर

श्रीनगर

फ़ौजी अदालत ने आज फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में एक और सिपाही को सज़ा-ए-उम्र कैद सुनाते हुए ख़िदमात से बरतरफ़ करदिया है जब कि अप्रैल 2010 में लाईन आफ़ कंट्रोल के करीब पेश आए इस वाक़िये में 3 नौजवान हलाक होगए थे। एक आला फ़ौजी ओहदेदार ने नाम मख़फ़ी रखने की शर्त पर बताया कि जनरल कोट मार्शल ने टेरीटोरियल आर्मी राइफल मैन अब्बास हुसैन शाह को सज़ाए उम्र कैद के साथ सर्विस‌ से बरतरफ़ करदिया गया है।

गुज़िशता साल नवंबर में 5 फ़ौजियों बिशमोल 2 ओहदेदारों को 3 नौजवानों को मौत के घाट उतार देने पर उम्र कैद की सज़ा दी गई थी। जिन्होंने ज़िला कुपवाड़ा के मछील सेक्टर में इन हलाकतों को एनकाउंटर का रंग देते हुए महलोकेन को पाकिस्तानी दर अंदाज़ क़रार दिया था।

अप्रैल 2010 को पेश आए इस वाक़िये के ख़िलाफ़ वादी कश्मीर में ज़बरदस्त एहतेजाज किया था। क़ब्ल अज़ीं शाह को मंसूबा इल्ज़ामात से बरी करदिया गया था लेकिन अब आर्मी हेडक्वार्टर की हिदायत पर ताज़ा कोर्ट मार्शल में सज़ाए उम्र कैद दी गई है। शाह के अलावा मछील फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में कर्नल दिनेश पठानिया , कैप्टन अवेनदर सिंह , हवालदार देवेंद्र , लांस नायक लक्ष्मी और अरूण कुमार मुल्ज़िम हैं|

TOPPOPULARRECENT