Tuesday , December 12 2017

फ़र्ज़ी शादी के रुके और चंदा की रसाइद

उजरत पर चंदा की वसूली करनेवाली टोली को काला पत्थर पुलिस ने बेनकाब कर दिया और इस टोली के सरग़ना की तलाश शुरू करदी।

उजरत पर चंदा की वसूली करनेवाली टोली को काला पत्थर पुलिस ने बेनकाब कर दिया और इस टोली के सरग़ना की तलाश शुरू करदी।
तफ़सीलात के बमूजब काला पत्थर ताड़बन के इलाके बशारत नगर में वाके एक मस्जिद के क़रीब ज़ईफ़ शख़्स और एक नौजवान शादी के रुके और चंदा की रसाइद के ज़रीया चंदा वसूल कररहे थे कि मुक़ामी नौजवानों को उन पर शुबा होगया और उन्हों ने उन्हें पकड़ लिया।

बताया जाता है कि 70 साला सयद पाशाह और 25 साला नईम साकन वटे पली फ़लक नुमा को नौजवानों ने काला पत्थर पुलिस के हवाले कर दिया जहां पर उन से पूछताछ की गई।

ज़ईफ़ शख़्स ने पुलिस को सनसनीखेज़ इन्किशाफ़ करते हुए ये बताया कि वटे पली के साकन शकूर नामी शख़्स ज़ईफ़ अफ़राद और बच्चों पर मुश्तमिल टोली चला रहा है जिन के ज़रीया फ़र्ज़ी शादीयों और मसाजिद के चंदों के नाम पर हज़ारों रुपये बटोरे जा रहे हैं।

बताया जाता है कि शकूर अपनी टोली के अरकान को उजरत देते हुए उन से ये कारोबार करवाता है। इन्सपैक्टर काला पत्थर एम ए माजिद ने बताया कि पाशाह और नईम को पूछताछ के बाद घर जाने की इजाज़त दी गई है और इस टोली के सरग़ना शकूर की तलाश जारी है और पुलिस मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

पुलिस को शुबा है कि पुराने शहर में कई मसाजिद के क़रीब इस किस्म की टोलियां सरगर्म हैं और उन के ख़िलाफ़ अनक़रीब कार्रवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT