Sunday , December 17 2017

फ़िर्कावाराना तशद्दुद से अम्वात में इज़ाफ़ा

तीन साल के दौरान 427 अफ़राद हलाक -वज़ारत-ए-दाख़िला की रिपोर्ट नई दिल्ली। 17 अक्टूबर (पी टी आई)। हुकूमत के लिए सब से बड़ी तशवीश की बात ये है कि मुल्क में होने वाले फ़िर्कावाराना फ़सादात के वाक़ियात में गुज़श्ता तीन साल के दौरान 2,420 फ़सादात हुए

तीन साल के दौरान 427 अफ़राद हलाक -वज़ारत-ए-दाख़िला की रिपोर्ट नई दिल्ली। 17 अक्टूबर (पी टी आई)। हुकूमत के लिए सब से बड़ी तशवीश की बात ये है कि मुल्क में होने वाले फ़िर्कावाराना फ़सादात के वाक़ियात में गुज़श्ता तीन साल के दौरान 2,420 फ़सादात हुए हैं और इस के नतीजा में कम अज़ कम 427 अफ़राद हलाक हुई। वज़ारत-ए-दाख़िला के आदाद-ओ-शुमार के मुताबिक़ इस साल अगसट तक फ़िर्कावाराना फ़सादात के 338 वाक़ियात हुए जिस में 53 अफ़राद हलाक और 1059 ज़ख़मी हुई। राजिस्थान के ज़िला भरत पर मैं 14 सितंबर को पेश आए वाक़िया में 10 अफ़राद हलाक हुए थी। अतरखनड के ज़िला ऊधम सिंह नगर में भी 2 अक्टूबर को फ़सादात हुए जिस में चार अफ़राद जांबाहक़ हुई। फ़िर्कावाराना तशद्दुद मर्कज़ केलिए सब से बड़ा तशवीश का मसला बन गया है। वज़ारत-ए-दाख़िला के ओहदेदार ने बताया कि हम ने रियास्ती हुकूमतों को मश्वरा दिया है कि वो फ़िर्कावाराना बदअमनी के वाक़ियात को रोकने केलिए सख़्त इक़दामात करे। फ़िर्कावाराना तशद्दुद से मुआशरे में संगीन नौईयत के वाक़ियात रौनुमा होते हैं। 2010 और 2009-में भी कई फ़सादात हुए थे।

TOPPOPULARRECENT