फ़िल्म रिव्यू: जिहाद की कहानी है ‘ओमर्टा’

फ़िल्म रिव्यू: जिहाद की कहानी है ‘ओमर्टा’
Click for full image

डायरेक्टर हंसल मेहता की फिल्म ‘ओमर्टा’ शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। बॉलीवुड के जाने माने डायरेक्टर हंसल मेहता की नजर इस बार एक आतंकी की कहानी पर पड़ी हैं.

फिल्म एक ऐसे शख्स उमर सईद शेख (राजकुमार राव) की कहानी है जो ब्रिटेन का नागरिक और लंदन में रहता है। उमर 90 के दशक की शुरुआत में बोस्निया और फिलिस्तीन में मारे जा रहे मुस्लमानों के लिए इंसाफ चाहता है और उनके साथ हो रही नाइंसाफी के खिलाफ लड़ना चाहता है।

अपने इन्हीं जज्बातों को वो लंदन के एक मौलाना के साथ साझा करता है और फिर शुरू होता है जिहाद का सफर। 1994 में दिल्ली में कुछ विदेशी टूरिस्टों के किडनैप करने की घटना में उमर के शामिल होने से लेकर जेल में गुजारे वक्त और डेनियल (पत्रकार) की बेरहमी से की गई हत्या के आसपास घूमती है।

राजकुमार राव ने अपने रोल के साथ इंसाफ किया है। वे पूरी फिल्म में छाए हुए हैं। हमेशा अपनी एक्टिंग से प्रभावित करने वाले राजकुमार राव द्वारा फिल्म में बोले डायलॉग्स ज्यादा दमदार नहीं लगे।

अन्य स्टार्स द्वारा निभाएं गए फिरंगी के किरदारों ने इम्प्रेस किया है। यदि राजकुमार राव की एक्टिंग पसंद करते हैं और ऑफबीट फिल्मों के शौकीन है तो ये फिल्म आप देख सकते हैं।

कलाकार: राजकुमार राव, राजेश तेलांग, टिमोथी रायन, केवल अरोरा, ब्लेक एलन

निर्माता: शैलेश आर. सिंग, नाहिद खान

निर्देशकः हंसल मेहता

रेटिंग: 2/5

Top Stories