Friday , December 15 2017

फ़ेडरर का क्वार्टरफाइनल में नडाल से मुक़ाबले की उम्मीद‌

सीज़न के आख़िरी ग्रांड सलाम यू एस ओपन में मर्द ज़ुमरे के मुक़ाबलों में इस मर्तबा कोई भी खिलाड़ी वाज़ह तौर पर ख़िताब के लिए पसंदीदा मौक़िफ़ में नहीं है।

सीज़न के आख़िरी ग्रांड सलाम यू एस ओपन में मर्द ज़ुमरे के मुक़ाबलों में इस मर्तबा कोई भी खिलाड़ी वाज़ह तौर पर ख़िताब के लिए पसंदीदा मौक़िफ़ में नहीं है।

अगर तारीख़ और मौजूदा हालात के पेशे नज़र जिन खिलाड़ियों को ख़िताब के लिए मज़बूत दावेदार तसव्वुर किया जा सकता है वो आलमी नंबर एक नोवाक जोकोविच, दूसरे बेहतरीन खिलाड़ी राफ़ल नडाल, दिफ़ाई चैंपिय‌न एंडी मरे और 2009 में ख़िताब हासिल करने वाले यान मार्टिन डील पोट्रो वो नाम हैं।

ख़िताब के लिए दावेदार तसव्वुर किया जा रहा है लेकिन फ़्रैंच ओपन 2005 के बाद ये पहला ऐसा मौक़ा है कि मज़कूरा बाला पाँच खिलाड़ियों ने ग्रांड सलाम ख़िताब हासिल किया है और पहली मर्तबा ये पांचों खिलाड़ी ख़िताब की दौड़ में मौजूद हैं लेकिन कोई भी खिलाड़ी ख़िताब के लिए अपनी मज़बूत दावेदारी पेश नहीं करसकता।

यू ऐस ओपन 2013 का शुरूआत पीर को होगा। गुजिश्ता पाँच सालों के दौरान फ्लशिंग मेडोज़ में होने वाला फाईनल मुक़ाबलों में पाँच मुख़्तलिफ़ चैंपियंस मंज़र-ए-आम पर आए हैं और इस मर्तबा भी इन पाँच खिलाड़ियों को ही ख़िताब के लिए दावेदार तसव्वुर किया जा रहा है।

राजर फ़ेडरर को ख़ताबात की दौड़ में पहला मुक़ाम हासिल है जैसा कि उन्होंने 2004 ता 2008 लगातार‌ पाँच ख़ताबात हासिल किए हैं और यहां उनके लिए एक और मौक़ा है कि वो अपने खराब‌ फ़ार्म को पीछे छोड़ते हुए 18 वां ग्रांड सलाम हासिल करें। लेकिन ये उनके लिए आसान नहीं क्योंकि गुजिश्ता 14 ख़ताबात के दौरान उन्होंने सिर्फ़ एक मर्तबा कामयाबी हासिल की।

32 साल की उम्र में भी वो गेंद को बेहतर तरीक़ा से खेल रहे हैं लेकिन उनके नौजवान हरीफ़ खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ उन्हें कामयाबी के लिए सख़्त जद्द-ओ-जहद करनी होगी क्योंकि ड्रा के ऐलान के बाद फ़ेडरर साबिक़ चैंपिय‌न राफ़ल नडाल के ग्रुप में ही शामिल हैं और इस तरह टेनिस के दो कट्टर हरीफ़ खिलाड़ियों के बीच‌ यहां क्वार्टरफाइनल मुक़ाबले की उम्मीद‌ है।

फ़ेडरर और नडाल यू एस ओपन में कभी एक दूसरे के ख़िलाफ़ मुक़ाबले नहीं खेले हैं और ये पहली मर्तबा होगा कि दोनों खिलाड़ी ग्रांड सलाम के क्वार्टरफाइनल में एक दूसरे के मद्द-ए-मुक़ाबिल होंगे। दूसरी जानिब नडाल ने 2010 में यू एस ओपन ख़िताब हासिल करते हुए अपने ग्रांड सलाम एज़ाज़ात की फेहरिस्त मुकम्मल की थी।

फ़्रैंच ओपन जहां नडाल ऊंचे मकाम पर‌ हैं लेकिन 2010 यू एस ओपन के बाद वो फ़्रैंच ओपन के बाद वो कोई दूसरा ख़िताब हासिल नहीं करसके जिस की वजह से फ़ेडरर के 17 ग्रांड सलाम के रिकार्ड को तोड़ना उनके लिए किस क़दर मुश्किल होचुका है। नडाल जो पहले ही 12 ग्रांड सलाम जीत‌ हासिल करचुके हैं।

वो यहां फिर एक मर्तबा हार्डकोर्ट पर ख़िताब हासिल करसकते हैं। दूसरे ग्रुप का तज़किरा करें तो यहां आलमी नंबर एक नोवाक जोकोविच और दिफ़ाई चैंपिय‌न एंडी मरे जो गुजिश्ता साल यहां फाईनल खेल चुके हैं जिस में जोकोविच को मात‌ दे कर एंडी मरे ने एक तवील अर्सा के बाद बर्तानिया के लिए ग्रांड सलाम ख़िताब हासिल किया था।

इस मर्तबा ये दो खिलाड़ी फाईनल में एक दूसरे के मद्द-ए-मुक़ाबिल नहीं हो सकेंगे क्योंकि दोनों के बीच‌ सेमीफाइनल टकराव की उम्मीद‌ है। जोकोविच जिन्होंने गुज़श्ता 6 यू एस ओपन के दौरान 4 फाइनल्स खेले हैं लेकिन सिर्फ़ एक मर्तबा उन्हें कामयाबी हासिल हुई है। इस ग्रुप में मरे को फिर एक मर्तबा ख़िताब के लिए पसंदीदा मौक़िफ़ दिया जा रहा है जिन्होंने गुजिश्ता साल‌ पाँच सीटों पर मुश्तमिल सनसनीखेज़ मुक़ाबले में जोकोविच को मात‌ दे कर 76 साल‌ बाद बर्तानिया के लिए ग्रांड सलाम हासिल किया था।

इन चार खिलाड़ियों के बाद 2009 के चैंपिय‌न डील पोट्रो को ख़िताब की दौड़ में पांचवां मुक़ाम हासिल है जिन्होंने 2009 में फ़ेडरर के ख़िलाफ़ एक यादगार कामयाबी हासिल की थी।

TOPPOPULARRECENT