Friday , December 15 2017

फ़ौजी कार्रवाई का इरादा बरक़रार

वाईट हाउज़ ने कहा है कि शाम के ख़िलाफ़ अपने जारिहाना फ़ौजी तर्ज़ अमल को बरक़रार रखेगा जबकि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में सिफ़ारती कोशिशें मुसलसल मफ़लूज हो रही हैं। वाईट हाउज़ के प्रेस सैक्रेटरी जोय कार्नीए ने न्यूज़ कान्फ़्रेंस में बताया कि अमर

वाईट हाउज़ ने कहा है कि शाम के ख़िलाफ़ अपने जारिहाना फ़ौजी तर्ज़ अमल को बरक़रार रखेगा जबकि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में सिफ़ारती कोशिशें मुसलसल मफ़लूज हो रही हैं। वाईट हाउज़ के प्रेस सैक्रेटरी जोय कार्नीए ने न्यूज़ कान्फ़्रेंस में बताया कि अमरीका की है और फ़ौजी ताक़त के ख़तरात ख़त्म नहीं हुए हैं।

उन्हों ने कहा कि शाम की बशार अल असद हुकूमत ने ये तस्लीम किया है कि उस के पास कीमीयाई हथियार मौजूद हैं और उन्हें तलफ़-ओ-तबाह करने से इत्तिफ़ाक़ किया है। बैन-उल-अक़वामी कंट्रोल के तहत इन हथियारों को देने से भी तैयार होने के बाद अमरीका के लिए ये ज़रूरी हो गया है कि शाम अपने वादे से मुनहरिफ़ होजाए तो फ़ौजी कार्रवाई की जाये। हम इस सिलसिले में क़रीबी नज़र रखते हैं न्यूयार्क में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के अपने हलीफ़ मुल्कों के साथ रूस को भी मुआहिदे पर अमल आवरी के लिए ज़ोर दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सदर अमरीका बराक ओबामा शुरू से ये कहते आरहे हैं कि 21 अगस्त को बशार अल असद हुकूमत ने कीमीयाई हथियारों का होलनाक इस्तिमाल किया है। इस के रद्द-ए-अमल में अमरीका को अपनी फ़ौजी कार्यवाहीयां शुरू करनी हैं।

TOPPOPULARRECENT