Wednesday , December 13 2017

फ़ौजी सरबराह तनाज़ा : मर्कज़ की केवट यह तवील रुख़स्त की हिदायत का इमकान

नई दिल्ली, १८ जनवरी (पी टी आई ) फ़ौजी सरबराह जनरल वी के सिंह की जानिब से गैर मुतवक़्क़े तौर पर उम्र के मुआमला में सुप्रीम कोर्ट से रुजू होने पर हैरतज़दा हुकूमत ने आज रात लायेहा-ए-अमल को क़तईयत देने की तैयारी शुरू कर दी है ।

नई दिल्ली, १८ जनवरी (पी टी आई ) फ़ौजी सरबराह जनरल वी के सिंह की जानिब से गैर मुतवक़्क़े तौर पर उम्र के मुआमला में सुप्रीम कोर्ट से रुजू होने पर हैरतज़दा हुकूमत ने आज रात लायेहा-ए-अमल को क़तईयत देने की तैयारी शुरू कर दी है ।

इस ज़िमन में वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने सीनियर वुज़रा से तबादला ख़्याल किया। हुकूमत तवक़्क़ो है कि सुप्रीम कोर्ट में केवट दाख़िल करते हुए जनरल सिंह की दायर कर्दा रिट दरख़ास्त पर कोई भी हुक्म ना देने की ख़ाहिश करेगी यह फिर ये भी मुम्किन है कि फ़ौजी सरबराह को रुख़स्त पर चले जाने की हिदायत दी जाएगी ।

वज़ीर दिफ़ा ए के अंटोनी और वज़ीर क़ानून सलमान ख़ूर्शीद ने आज वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह के साथ फ़ौजी सरबराह के इक़दाम पर तबादला ख़्याल क्या । इस बारे में सरकारी तौर पर ताहाल ये वाज़िह नहीं किया गया कि हुकूमत का लायेहा-ए-अमल क्या होगा ।

ताहम ये कयास आराईयां की जा रही हैं कि अदालत में इन की दरख़ास्त ज़ेर तसफ़ीया होने की बिना जनरल वे के सिंह से तवील रुख़स्त हासिल कर लेने की ख़ाहिश की जाएगी । ताहम वज़ारत-ए-दिफ़ा ने इस बारे में कोई वाज़िह मौक़िफ़ का ऐलान नहीं किया है।

इस दौरान डीफेंस सेक्रेट्री शशी कांत शर्मा जो दो रोज़ा दौरा पर मलेशिया गए हुए थे, ताज़ा सूरत-ए-हाल की बिना वापस

बुला लिया गया है। इस वक़्त सब की नज़रें सुप्रीम कोर्ट पर मर्कूज़ हैं जबकि बाज़ क़ानून माहिरीन का ये नुक़्ता-ए-नज़र है कि जनरल वे के सिंह को आम फ़ोर्सस ट्रीब्यूनल से रुजू होकर शिकायत का अज़ाला करना चाहीए था । जनरल सिंह का ये दावा है कि इन की तारीख पैदाइश 10 मई 1951 है और हुकूमत 10 मई 1950 को उन की तारीख़ी पैदाइश तसव्वुर न करे।

सुप्रीम कोर्ट जनरल सिंह की दरख़ास्त पर जुमा को समाअत करेगी । अभी ये वाज़िह नहीं हो सका कि इन की दरख़ास्त क़बूल की जाएगी यह नहीं। उन्हों ने अदालत से ख़ाहिश की है कि तारीख पैदाइश 10 मई 1951 होने का हुक्म दिया जाय ताकि उन्हें दीगर तमाम फ़वाइद हासिल हो सकें।

TOPPOPULARRECENT