Sunday , September 23 2018

फ़ौज की वापिसी से बशारुल असद कमज़ोर नहीं होंगे – रूस

रूस ने कहा है कि शाम से फ़ौज का एक बड़ा हिस्सा वापिस बुलाए जाने से सदर बशारुल असद कमज़ोर नहीं होंगे। ख़बररसां एजैंसी इंटरफैक्स ने मास्को वज़ारते ख़ारजा के तर्जुमान का एक बयान नक़ल किया है जिसमें उनका कहना है कि रूसी फ़ौजों के शाम से इन्ख़िला से सदर बशारुल असद पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ेगा।

रूसी फ़ौज के वापिस होने से बशारुल असद कमज़ोर नहीं होंगे। रूसी वज़ारते ख़ारजा का कहना है कि मग़रिब शाम को रूस के लिए नया अफ़्ग़ानिस्तान क़रार देने में नाकाम रहा है।

मास्को वज़ारते ख़ारजा की ख़ातून तर्जुमान मारीया ज़ाख़ारोफ़ा ने कहा कि आइन्दा हफ़्ते मास्को में अमरीकी वज़ीरे ख़ारजा जॉन कैरी और उनके रूसी हम मन्सब सीरगई लाफ़रोफ़ के दरमयान अहम मुलाक़ात होगी जिसमें शाम के तनाज़ा पर बात-चीत की जाएगी।

ख़्याल रहे कि रूसी वज़ारते ख़ारजा की जानिब से ताज़ा बयान एक ऐसे वक़्त में सामने आया है जब शाम में उतारी गई रूसी फ़ौज की दूसरी खेप वतन वापिस लौट गई है। ज़राए के मुताबिक़ रूस ने इल्यूशन 76 और सूखोई 25 नामी जंगी तय्यारे शाम से वापिस बूला लिए हैं।

TOPPOPULARRECENT