Sunday , December 17 2017

फ़ौज में 10 हज़ार ओहदेदारों की कमी

नई दिल्ली, २१ सितंबर ( एजेंसी) मुल़्क की सरहदों की हिफ़ाज़त करने वाली फ़ौज में ओहदेदारों की कमी के बाइस (कारण/ सबब) उस की ताक़त दाख़िली ( अंदुरूनी) तौर पर कमज़ोर होने का अंदेशा है । फ़ौजी सरबराह जनरल विक्रम सिंह ने कहा कि फ़ौज को इस वक़्त 10 हज़ार ओ

नई दिल्ली, २१ सितंबर ( एजेंसी) मुल़्क की सरहदों की हिफ़ाज़त करने वाली फ़ौज में ओहदेदारों की कमी के बाइस (कारण/ सबब) उस की ताक़त दाख़िली ( अंदुरूनी) तौर पर कमज़ोर होने का अंदेशा है । फ़ौजी सरबराह जनरल विक्रम सिंह ने कहा कि फ़ौज को इस वक़्त 10 हज़ार ओहदेदारों की ज़रूरत है ।

मुल्क के नौजवानों में फ़ौज में शामिल होने का रुजहान कम होने के बाइस ( सबब) सिपाहीयों की कमी वाक़्य ( जरूर) हुई है । उन्होंने कहा कि हमें ओहदेदारों को ज़्यादा से ज़्यादा फ़ौज में शामिल होने की तरग़ीब (प्रेरणा) दी जाने चाहिये । इस सिलसिले में नौजवानों के वालदैन ( माता पिता) से भी राबिता ( संबंध) क़ायम करके अपनी औलाद को फ़ौजी बनाने की तरग़ीब ( प्रेरणा) दी जाएगी ।

फ़ौजी ओहदेदारों और सिपाहीयों के दरमयान हालिया टकराव के वाक़ियात के पस-ए-मंज़र में जर्नल विक्रम सिंह ने कहा कि आफ़िसरों ( अधिकारियों) की कमी फ़ौज में डिसीप्लिन और नज़म-ओ-नसक़ ( Adminstration/प्रबंध) की परेशानी को बढ़ा रही है ।

TOPPOPULARRECENT