Saturday , August 18 2018

“आई एम मलाला” पर पाबंदी मुतनाज़ा

इस दौरान पाकिस्तान में निजी स्कूलों की एक तंज़ीम की जानिब से मलाला यूसुफ़ ज़ई की किताब पर पाबंदी को आज़ादी इज़हार ख़्याल पर रोक क़रार दिया जा रहा है। ऑल पाकिस्तान प्राईवेट स्कूल्स फ़ेडरेशन नामी तंज़ीम ने गुज़िश्ता हफ़्ते मुल्क भर के

इस दौरान पाकिस्तान में निजी स्कूलों की एक तंज़ीम की जानिब से मलाला यूसुफ़ ज़ई की किताब पर पाबंदी को आज़ादी इज़हार ख़्याल पर रोक क़रार दिया जा रहा है। ऑल पाकिस्तान प्राईवेट स्कूल्स फ़ेडरेशन नामी तंज़ीम ने गुज़िश्ता हफ़्ते मुल्क भर के निजी स्कूलों में मलाला की किताब आई एम मलाला पर पाबंदी आइद कर दी थी।

इस तनतीम के ओहदेदारों के मुताबिक़ मलाला की किताब में ऐसी बहुत सी बातें हैं, जो बच्चों के ज़हनों में इबहाम पैदा कर सकती हैं। तंज़ीम के मुताबिक़ वो नहीं चाहते कि कमसिन तलबा मलाला के नक़्शे क़दम पर चलें।

आई एम मलाला को बैनुल अक़वामी सतह पर पज़ीराई हासिल हो चुकी है। ताहम मलाला के हवाले से जिस तरह पाकिस्तानी मुआशरे में वाज़ेह इख़्तिलाफ़े राय पाया जाता है इसी तरह इस तालिबा की तसनीफ़ पर भी राय मुनक़सिम है।

TOPPOPULARRECENT