Sunday , December 17 2017

1 लाख से कम इन्कम वाले समझे जाएंगे वीकर सेक्शन

रांची : रियसती हुकूमत प्राइवेट स्कूलों में बीपीएल और वीकर सेक्शन के एडमिशन के लिए दिल्ली सरकार के फार्मूले को अपनाने जा रही है। दिल्ली सरकार ने एक लाख से कम इन्कम वाले अहले खाना को वीकर सेक्शन माना है। ऐसे में वीकर सेक्शन का मतलब तालीम महकमा ने दिल्ली सरकार के ही फार्मूले को लागू करने पर गौर कर रही है।

जिला तालीम महकमा की मानें तो रियासती हुकूमत की तरफ से वीकर सेक्शन को लेकर कश्मकश की सुरते हाल बनी रहती थी। प्राइवेट स्कूल अपनी तरफ से तररूफ़ तय नहीं करते थे और मामला सरकार के पाले में डालते थे। ऐसे में अब बीपीएल के साथ ही वीकर सेक्शन की तररूफ़ वाजेह होने में महकमा को सहूलियत होगी। मुमकिना अगले 7 दिनों में इस मसले पर रियासती हुकूमत की तरफ से वाजेह हिदायत आ जाएगा।

तालीम महकमा का कहना है कि प्राइवेट स्कूल में बीपीएल और वीकर सेक्शन को एडमिशन मिले इसको लेकर महकमा की तैयारी पुख्ता है। महकमा से फ्री एडमिशन लेकर बीपीएल अहले खाना फार्म जमा करेंगे। इसके बाद तीन रुकनी टीम इलाक़े की बुनियाद पर स्कूलों को एडमिशन के लिए हिदायत जारी करेगी। दरख्वास्त ज्यादा रहने पर महकमा लॉटरी करेगा।

अगले 7 दिन में दरख्वास्त फार्म का ड्राफ्ट बीपीएल तबके के लिए तैयार हो जाएगा। इसके साथ ही वीकर सेक्शन की तररूफ़ भी रियासती हुकूमत तय कर देगी, जिससे इस साल पराइवेट स्कूलों में बीपीएल कोटे से एडमिशन यकीन दिहानी किया जाएगा।
इन्द्रभूषण सिंह, डीएसई, सिंहभूम

 

TOPPOPULARRECENT