फ़्रांसीसी भविष्यवेत्ता ने 465 साल पहले की थी ‘कोरोना वायरस’ की भविष्यवाणी?

फ़्रांसीसी भविष्यवेत्ता ने 465 साल पहले  की थी ‘कोरोना वायरस’ की भविष्यवाणी?

भविष्य के गर्भ में क्या छुपा है, ये कोई कह नहीं सकता लेकिन भविष्य को लेकर हमेशा से चर्चा होती रही है। आज से कई सदियों पहले दुनिया के बारे में फ्रांसीसी भविष्यवेत्ता माइकल दि नास्त्रेदमस कई भविष्यवाणी करके गए हैं। उनकी कई भविष्यवाणियां 2020 को लेकर भी की गई है। उनकी भविष्यवाणियों के अनुसार 2020 में दुनिया पर सबसे बड़ा खतरा महामारी का है, जिससे अनगिनत लोगों के मौत के मुंह में जाने की आशंका है। कहा जा रहा है कि नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी में जिस महामारी का जिक्र किया गया है, वो महामारी कोई और नहीं बल्कि कोरोना वायरस ही है।
कई ऑनलाइन थियोरिस्ट्स का भी यही कहना है कि माइकल डी नास्त्रेदमस ने 15वीं शताब्दी में की गई भविष्यवाणी में कोरोना वायरस को महामारी बताया गया है। इस बात को इस बात से और भी बल मिलता है कि भविष्यवाणी में जिस शहर में महामारी फैलने का उल्लेख हुआ है, वो विवरण के आधार पर हुबेई प्रांत पूर्वी चीन का ही एक भू-भाग है, इसका मतलब की वो शहर वुहान ही माना जा रहा है। इस शहर में समुद्री जीवों के व्यापार की एक मंडी भी लगती है।

कौन थे नास्त्रेदमस
माइकल डी नास्त्रेदमस का जन्म 1503 में फ्रांस में हुआ था। इनका परिवार यहूदी था। बाद में कैथलिक धर्म अपना लिया। इनकी लिखी किताब ‘द प्रॉफेसीज’ में दुनिया के बारे में ऐसी भविष्यवाणियां लिखी हुई हैं, जिसकी चर्चा हर साल रहती है। लोग ऐसा मानते हैं कि इनकी लिखी हुई चार-चार लाइनों की कविताओं में दुनिया की सारी बड़ी घटनाओं की भविष्यवाणी छुपी हुई है। मानने वालों के लिए नेपोलियन और फ्रांस की क्रांति से लेकर, कैनेडी की हत्या और वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला सबकी भविष्यवाणी इसी किताब में लिखी हुई है।

Top Stories