Monday , September 24 2018

15 ओक़ाफ़ी इदारों के लिए कमेटीयों का क़ियाम ,1 मुतवल्लियों की नामज़दगी

आंध्र प्रदेश स्टेट वक़्फ़ बोर्ड कि मीटिंग आज सदर नशीन वक़्फ़ बोर्ड ग़ुलाम अफ़ज़ल ब्याबानी ख़ुसरो पाशाह की सदारत में मुनाक़िद हुवि जिस में पहली मर्तबा सेक्रेटरी महिकमा अकलियती बहबूद अहमद नदीम ने बह हैसियत बह एतेबार ओहदा रुकन की ह

आंध्र प्रदेश स्टेट वक़्फ़ बोर्ड कि मीटिंग आज सदर नशीन वक़्फ़ बोर्ड ग़ुलाम अफ़ज़ल ब्याबानी ख़ुसरो पाशाह की सदारत में मुनाक़िद हुवि जिस में पहली मर्तबा सेक्रेटरी महिकमा अकलियती बहबूद अहमद नदीम ने बह हैसियत बह एतेबार ओहदा रुकन की हैसियत से शिरकत की।

अहमद नदीम की हज हाउज़ आमद और बड़ी देर तक बोर्ड की मीटिंग में शिरकत से हज हाउज़ में मुख़्तलिफ़ किस्म की कयास आराईयां शुरू होगईं थीं और ये बावर किया जा रहा था कि वो बोर्ड की कारकर्दगी से नाख़ुश होकर जायज़ा लेने आए हैं।

अहमद नदीम ने बड़ी देर तक मीटिंग में हिस्सा लिया और मुख़्तलिफ़ उमूर में सदर नशीन बोर्ड और दुसरे अरकान के साथ तबादला ख़्याल किया। मीटिंग में शिकवा-ओ-शिकायत का बड़ी देर तक सिलसिला जारी रहा।

बोर्ड के अरकान ने उन्हें वाक़िफ़ करवाया कि किन ना मुसाइद हालात में बोर्ड को अपने उमूर अंजाम देना पड़ता है। उन्हें वाक़िफ़ करवाया गया कि मुख़्तलिफ़ अवामी मक़ासिद के नाम पर आए दिन कोई ना कोई सरकारी महिकमा किसी ओक़ाफ़ी जायदाद को क़ानून हुसूल ज़मीं को इस्तेमाल करते हुए छीन लेता है और कम मुआवज़ा तए करता है, बसा मुआमलात में बोर्ड को मुआवज़ा देने में आना कुनी की जाती है।

उन्हें बोर्ड में अमला की क़िल्लत से पैदा होने वाले मसाइल से भी वाक़िफ़ करवाया गया। इस् मीटिंग में 15 ओक़ाफ़ी इदारों के लिए इंतेज़ामी कमेटियों की तशकिल तशकिल नौ, 11 मुतवल्लियों की नामज़दगी के अलावा 4 जायदादों को दर्ज औक़ाफ़ करने की तजावीज़ और ओक़ाफ़ी जायदाद पर तामीरात की 6 तजावीज़ को मंज़ूरी दी गई। 4 उमूर में महिकमा जाती तहकीकात, हुसूल ज़मीं की दो तजावीज़ के अलावा बोर्ड के दो मुलाज़मीन की तरक़्क़ी की तजावीज़ को मंज़ूरी दी गई।

TOPPOPULARRECENT