16वीं महिला पत्रकार ने अकबर पर लगाया आरोप, कहा- कई बार किस किया, अंडवियर में खोला दरवाज़ा

16वीं महिला पत्रकार ने अकबर पर लगाया आरोप, कहा- कई बार किस किया, अंडवियर में खोला दरवाज़ा
Click for full image

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। #MeToo कैंपेन में अकबर के खिलाफ 16वीं महिला ने अपनी आवाज उठाई है। तुषिता पटेल नाम की इस महिला ने अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। तुषिता ने कहा कि अकबर ने उन्हें घर पर बुलाकर कई बार किस किया। इतना ही नहीं तुषिता को घर पर बुलाकर अकबर ने अंडरवियर में गेट खोला था।

तुषिता ने एक इंटरव्यू में कहा कि यह घटना 1992 की है। तुषिता ने कहा, ‘मैं उस वक्त टेलिग्राफ अखबार में ट्रेनिंग कर रही थी। अकबर तब पत्रकारिता छोड़ चुके थे और राजनीति जॉइन की थी। इसके बाद अकबर किसी पॉलिटिकल टूर पर कोलकाता आए थे। मेरे सभी कलीग उनसे मिलने जा रहे थे। उन्होंने मुझे भी चलने के लिए कहा और मैं भी अपने कलीग के साथ उनसे मिलने गई।’

तुषिता ने कहा, ‘इसके बाद वह मुझे कॉल कर अकेले घर पर बुलाने लगे। मैंने हर बार मना कर दिया। कई बार मना करने के बाद एक दिन मैंने उनसे मिलने का निर्णय लिया। जब मैं उनके होटल पहुंची, तो उन्होंने अंडरवियर में दरवाजा खोला। मुझे अजीब लगा और मैं डर गई। उन्होंने मुझे अंदर आने को कहा और डरते हुए मैं अंदर गई। इसके बाद अकबर बाथरोब पहनकर बाहर निकले। क्या किसी 22 साल की लड़की का इस प्रकार स्वागत किया जाता है?’

तुषिता ने कहा, ‘1993 में अकबर डेक्कन क्रोनिकल के चीफ एडिटर थे। उस वक्त मैं भी हैदराबाद में ही थी और क्रोनिकल में सीनियर सब एडिटर थी। अकबर ने एक दिन अचानक मुझे अखबार के किसी पेज पर चर्चा के लिए अपने होटल बुलाया। मैं जब वहां पहुंची तो उन्होंने मुझे जबरदस्ती पकड़ लिया और किस करने लगे। इसके बाद उन्होंने कई बार ऑफिस के कॉन्फ्रेंस हॉल में किस करने की कोशिश की।’

इससे पहले एमजे अकबर ने सोमवार को कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में आपराधिक मानहानि का मामला दायर किया है। रविवार को उन्होंने एक इंटरव्यू में सभी आरोपों को झूठा करार देते हुए पूछा कि यह सभी आरोप आम चुनाव से पहले ही क्यों उठे हैं। अकबर ने कहा था कि इसमें विपक्ष का कोई एजेंडा हो सकता है। अकबर ने कहा कि कुछ लोगों को बिना किसी तथ्य और सबूत के आरोप लगाने की बीमारी है।

बता दें कि एमजे अकबर केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री के अलावा कई अखबारों में सीनियर जर्नलिस्ट के तौर पर भी काम कर चुके हैं। हाल ही में शुरू हुए #MeToo कैंपेन में उन पर प्रिया रमानी, शूमा राहा, प्रेरणा सिंह बिंद्रा, गजला वहाब और सुपर्णा शर्मा समेत 15 महिला पत्रकारों ने अश्लील व्यवहार करने का आरोप लगाया था। प्रिया रमानी ने एक ट्वीट कर बताया था कि एमजे अकबर कभी भी कोई अश्लील हरकत करने से चूकते नहीं थे। वहीं एक और पत्रकार ने कहा था कि अकबर जब ‘एशियन एज’ अखबार के बॉस थे तब उन्होंने मुझे वहां रात में रुकने के लिए पूछा था। मेरे मना करने के बाद मैं कभी उनके पसंद के लोगों में नहीं रही। वहीं एक विदेशी पत्रकार ने भी अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इंग्लैंड की एक पत्रकार रुथ डेविड ने एक ब्लॉग लिखा था, जिसमें उन्होंने बताया था कि टीनेज में अकबर ने उनका यौन शोषण किया था।

Top Stories