Monday , December 11 2017

16 हजार बिजली कनेक्शन दिए जा रहे हैं रोजाना जबकि 90 हजार कनेक्शन देना होगा रोजाना, तब पूरा होगा मोदी का मिशन ‘सौभाग्‍य’

नयी दिल्ली :  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले 15 महीनों में 4 करोड़ से अधिक घरों में बिजली कनेक्शन पहुंचाने का वादा किया है। हर घर में बिजली पहुंचाने के इस वादे को पूरा करने के लिए सरकार को हर रोज करीब 90 हजार घरों में बिजली कनेक्शन देना होगा। इसके लिए मौजूदा परफॉरमेंस को देखते हुए सरकार को 600 फीसदी ग्रोथ रेट हासिल करनी होगी, तब जाकर दिसंबर 2018 तक टारगेट पूरा हो पाएगा।

दरअसल, मोदी सरकार ने सत्ता संभालने के कुछ समय बाद दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की शुरूआत की थी, जिसके तहत सभी गांवों तक बिजली पहुंचाने का टारगेट रखा गया था। इस योजना के तहत घरों में कनेक्शन भी दिए जा रहे हैं। जिसकी डिटेल गर्व पोर्टल में दी जाती है। इसके मुताबिक, अगस्त माह में 4 लाख 47 हजार घरों में कनेक्शन दिया गया, जबकि सितंबर में अब तक 4 लाख 61 हजार घरों में कनेक्शन दिया जा चुका है। इस हिसाब से देखा जाए तो रोजाना औसतन 15 से 16 हजार कनेक्शन दिए जा रहे हैं।  अगर 31 दिसंबर 2018 तक 4 करोड़ 5 लाख घरों तक बिजली कनेक्शन दिए जाने हैं तो सरकार के पास 15 महीने हैं और सरकार को हर महीने लगभग 27 लाख कनेक्शन देने होंगे। यानी कि एक दिन में औसतन 90 हजार कनेक्शन देने पर ही सरकार 31 दिसंबर के टारगेट को हासिल कर सकती हैं।

यानी कि सरकार को 600 फीसदी ग्रोथ रेट हासिल करनी होगी। मुश्किल है टारगेट हासिल करना उत्तर प्रदेश स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के पूर्व चीफ इंजीनियर एवं ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेंद्र दूबे ने  कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह घोषणा स्वागत योग्य है। यह बेहद जरूरी है कि हर घर तक बिजली पहुंचे, लेकिन इस टारगेट को हासिल करना बहुत मुश्किल है। इसकी बड़ी वजह मैन पावर और इंफ्रास्चर की कमी है। इस योजना का सारा दारमोदार डिस्कॉम्स (बिजली वितरण कंपनियों) पर होगा। इन कंपनियों में कर्मचारियों की कमी है और इनके पास संसाधन भी नहीं हैं। दूबे ने कहा कि सबसे अधिक कनेक्शन उत्तर प्रदेश में देने हैं। अभी यहां की पावर डिमांड लगभग 20 हजार मेगावाट है और अगर सभी घरों को कनेक्शन दिया गया तो यह डिमांड 24 हजार मेगावाट से अधिक हो जाएगी, जबकि यूपी में बिजली की कमी तो है ही, साथ ही ट्रांसमिशन इंफ्रास्चर भी नहीं है।

TOPPOPULARRECENT