16-साल के मोहसिन को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया

16-साल के मोहसिन को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया

गणतंत्र दिवस पर जिन बहादुर बच्चों को वीरता पुरस्कार दिया गया है, इनके किस्से आपको हौसले के साथ प्रेरणा देने वाले हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इन बच्चों को वीरता पुरस्कार से नवाजा है. भारतीय बाल कल्याण परिषद ने इस साल 22 बच्चों को वीरता पुरस्कार दिया है. इनमें से केरल के कोझीकोड के रहने वाले मुहम्मद मुहसिन ने समुद्र में बहते अपने दोस्तों को बचाने के लिए जान गंवा दी.

मोहसिन ने तीन जिंदगियां तो बचा लीं लेकिन खुद दुनिया को अलविदा कह गया। कोझिकोड के मोहम्मद मोहसिन ने अपने दोस्तों को बचाने के लिए समुद्र में छलांग लगा दी। उनके दोस्त तो बच गए लेकिन मोहसिन को बचाया नहीं जा सका।

मोहसिन के पिता मुस्तफा जो कतर में काम करते हैं ने आईएएनएस को बताया  “मुझे मोहसिन पर गर्व है। मैं बिल्कुल दुखी नहीं हूं  उसने एक अच्छे काम के लिए अपना जीवन दान दे दिया। उनकी एक बहादुर मौत हुई है। मेरी पत्नी नसीला ने उनकी आंखों में आंसू देखकर उन्हें याद किया, लेकिन मोहसीन ने  जो काम कियाकोई भी आम इंसान नहीं कर सकता,

 

Top Stories