1949 के बाद सबसे कम चीन में सबसे कम हुआ बर्थ रेट

1949 के बाद सबसे कम चीन में सबसे कम हुआ बर्थ रेट

चीन में एक संतान नीति में ढील दिए जाने के बावजूद जन्मदर हर साल गिरती जा रही है। वर्ष 2019 में देश में सात दशक की न्यूनतम जन्म दर दर्ज की गई और सबसे कम बच्चों का जन्म हुआ। चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, गत वर्ष जन्मदर प्रति हजार पर 10.48 फीसद रही।

यह साल 1949 के बाद सबसे कम है। चीन में पिछले साल एक करोड़ 46 लाख 50 हजार बच्चों का जन्म हुआ। जबकि 2018 में एक करोड़ 52 लाख 30 हजार बच्चों का जन्म हुआ था। पिछले कई साल से जन्मदर में गिरावट का सामना कर रही दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश को इसकी वजह से कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।हालांकि, वर्ष 2019 में जन्मदर में गिरावट के बावजूद चीन की आबादी बढ़कर एक अरब 40 करोड़ हो गई। इसकी वजह निम्न मृत्युदर बताई जा रही है।

गौरतलब है कि चीन की सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए 1979 में सख्ती के साथ एक संतान नीति लागू की थी। इसके उल्लंघन पर जुर्माने से लेकर नौकरी से निकाले जाने और गर्भपात तक का प्रावधान किया गया था। लेकिन इस नीति के चलते लिंगानुपात में असंतुलन देखने को मिला। सरकार ने 2015 में इस नीति में ढील देते हुए माता-पिता को दो बच्चे पैदा करने की छूट दे दी थी।

Top Stories