Monday , June 18 2018

2.5 लाख रुपये से अधिक जमा करने पर होगी इनकम टैक्स की जांच

नई दिल्ली: बुधवार की रात को सरकार ने चेतावनी दी है कि अगले 50 दिनों में 2.5 लाख रुपये से ऊपर नकदी जमा करने वालों की इनकम टैक्स विभाग जांच करेगा | अगर यह रकम टैक्स भरते वक़्त घोषित की गयी आय बेमेल होगी तब उन मामलों में टैक्स के साथ साथ 200 प्रतिशत तक का जुर्माना लग सकता है।

“हमें उन सभी खातों की रिपोर्ट प्राप्त होगी जिनमें 10 नवंबर से 30 दिसंबर, 2016 तक की अवधि के दौरान 2.5 लाख रूपये की सीमा से ऊपर नकदी जमा की जायेगी।”

“(टैक्स) विभाग जमा की गयी राशी का मिलान जमाकर्ताओं द्वारा दायर इनकम रिटर्न के साथ करेगा और इसके बाद उपयुक्त कार्रवाई का पालन किया जाएगा,” राजस्व सचिव हशमुख अधिया ने कहा।

“खाता धारक द्वारा घोषित रकम के साथ जमा रकम के मिलान में किसी भी कमी के मामले को टैक्स चोरी के रूप में माना जायेगा”।

“यह कर चोरी का मामला होगा और इसमें आयकर अधिनियम की धारा 270 (ए) के अनुसार देय कर के साथ कर का 200 प्रतिशत भी जुर्माना के रूप में लिया जायेगा,” उन्होंने कहा।

श्री अधिया ने कहा कि छोटे व्यापारियों, गृहिणियों, कारीगरों और श्रमिकों को घर पर रखी अपनी बचत के बारे में किसी भी आयकर विभाग की जांच के बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए।

“लोगों के ऐसे समूह को 1.5 या 2 लाख रूपये तक की नकदी जमा करने के बारे में चिंता की जरूरत नहीं है क्योंकि यह कर योग्य राशी से नीचे है । ऐसी छोटी रकम के लिए आयकर विभाग द्वारा कोई उत्पीड़न नहीं किया जाएगा, ” उसने कहा।

आभूषणों की खरीद का सहारा ले रहे लोगों के बारे में उन्होंने कहा कि आभूषण खरीदने वाले व्यक्तियों को भी अपना पैन नंबर बताना होगा।

“हम क्षेत्रीय अधिकारीयों को इस सम्बन्ध में आदेश दे दिए हैं कि जौहरियों द्वारा आभूषण खरीदने वाले ग्राहकों का पैन नंबर ज़रूर लिया जाए।”

“ऐसा न करने वाले जौहरियों के ऊपर उचित कार्यवाही की जाएगी,” उन्होंने आगे जोड़ा।

TOPPOPULARRECENT