Monday , December 11 2017

2003 मुंबई धमाके, हाइकोर्ट का फ़ैसला मुल्तवी

मुंबई, १३ दिसम्बर:(पी टी आई) बंबई हाइकोर्ट ने 2003 मुंबई दो बम धमाकों के मुक़द्दमे पर अपना फ़ैसला मुल्तवी कर दिया। इन धमाकों में 52 अफ़राद हलाक हुए थे और तीन मुजरिमीन बिशमोल एक ख़ातून को सज़ाए मौत सुनाई गई।

मुंबई, १३ दिसम्बर:(पी टी आई) बंबई हाइकोर्ट ने 2003 मुंबई दो बम धमाकों के मुक़द्दमे पर अपना फ़ैसला मुल्तवी कर दिया। इन धमाकों में 52 अफ़राद हलाक हुए थे और तीन मुजरिमीन बिशमोल एक ख़ातून को सज़ाए मौत सुनाई गई।

बंबई हाइकोर्ट की जानिब से आज अपने फ़ैसला में सज़ा की तौसीक़ मुतवक़्क़े थी । ताहम ये फ़ैसला आइन्दा हफ़्ता या फिर तातीलात ख़तन होने के बाद जनवरी के पहले हफ़्ता में सुनाए जाने का इमकान है । जस्टिस ए एम खुन्नू ने अपने चैंबर में कहा कि डीवीजन बंच के जस्टिस पी डी कूडे़ का हाल ही में अदालत के नागपुर बंच तबादला हुआ है चुनांचे अब तक फ़ैसला तैय्यार नहीं किया जा सका।

तीन मुजरिमीन इशरत अंसारी , उन के साथी हनीफ़ सैयद अनीस और अहलिया फ़हमीदा सैयद को पोटा अदालत में अगस्त 2009 -ए-में सज़ाई मौत सुनाई थी । अदालत ने उन्हें दो टैक्सियों में ताक़तवर बम नसब करने का मुजरिम क़रार दिया जिस के नतीजा में 25 अगस्त 2003 -ए-को गेट वे आफ़ इंडिया और ज़ावेरी बाज़ार में धमाके हुए जिस के नतीजा में 52 अफ़राद हलाक हो गए थे ।

TOPPOPULARRECENT