Monday , January 22 2018

2011 के बाद से सशस्त्र बलों ने 48 विमान और 21 हेलिकॉप्टर खोये हैं

2011 में दुर्घटनाओं के कारण 48 सैन्य विमानों और 21 हेलीकाप्टरों को सेना खो चुकी है जिनमे 79 लोगों की मौत हुई है, सरकार ने आज लोकसभा को बताया।

एक सवाल के जवाब में, रक्षा राज्य मंत्री ‘सुभाष भामरे’ ने कहा कि ऐसी सभी घटनाओं और दुर्घटनाओं की पूरी जांच की जाती है और निवारक कार्रवाई भी की जाती है।

“2011 से सशस्त्र बलों द्वारा कुल 48 विमान और 21 हेलीकाप्टरों दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं और इन दुर्घटनाओं में 79 लोग मारे गए हैं,” उन्होंने बताया।

एक अलग सवाल पर ‘भामरे’ ने कहा कि, उड़ान परीक्षण के लिए हलके लड़ाकू विमान ‘तेजस’ का उपयोग करने के लिए योजना बनाई गई है और एक मानव रहित युद्ध हवाई वाहन विकसित करने की योजना भी  बनायीं जा रही है।

उन्होंने कहा कि ‘हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड’ ने चेतक हेलीकॉप्टर को मानव रहित प्रौद्योगिकी प्रदर्शक में परिवर्तित करने पर अध्ययन किया है।

‘एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए)’ ने भी भविष्य में गुप्त लड़ाकू ड्रोन को विकसित करने की योजना बनाई है।

एक अलग सवाल के जवाब में ‘भामरे’ ने कहा कि भारतीय नौसेना ने जनवरी 2015 से 11 जहाजों को निलंबित कर दिया है।

TOPPOPULARRECENT