Thursday , February 22 2018

2015 16 तक बगै़र निगरांकार कोई रेलवे क्रासिंग नहीं होगी

बिहार में हाल ही में एक ट्रेन और बस के तसादुम ( टक्कर) में 8 अफ़राद (लोग) के हलाक होने का अन्दोहनाक वाक़िया पेश आया था । इस को पेशे नज़र रखते हुए रियास्ती वज़ीर बराए रेलवेज़ के एच मनी अप्पा ने कहा कि मुल्क में 2015-16 तक एक भी बगै़र निगराँकार वा

बिहार में हाल ही में एक ट्रेन और बस के तसादुम ( टक्कर) में 8 अफ़राद (लोग) के हलाक होने का अन्दोहनाक वाक़िया पेश आया था । इस को पेशे नज़र रखते हुए रियास्ती वज़ीर बराए रेलवेज़ के एच मनी अप्पा ने कहा कि मुल्क में 2015-16 तक एक भी बगै़र निगराँकार वाली रेलवे क्रासिंग नहीं होगी।

मीडीया के नुमाइंदों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि महकमा रेलवेज़ ने एक निशाना तशकील दिया है जिस के तहत 2015-16 तक मुल्क में कोई भी रेलवे क्रासिंग बगै़र निगराँकार ( Supervisor) के नहीं होगी । आज मुल्क में4000 ऐसी रेलवे क्रासिंग हैं जहां कोई निगरान कार मौजूद नहीं जिस की वजह से हादिसात रौनुमा होते हैं ।

महकमा रेलवेज़ ( रेल विभाग) और मुसाफ़िरैन का तहफ़्फ़ुज़ ( हिफाजत) हमारी अव्वलीन तर्जीह है । याद रहे कि ज़िला सीवान में जो हादिसा पेश आया इस रेलवे क्रासिंग पर निगरानकार मौजूद था लेकिन इसके बावजूद ट्रेन एक इंजनीयरिंग कालेज बस से टकरा गई जो उस वक़्त रेलवे लाईन पार कर रही थी जिस में 8 तलबा ( छात्र) बिशमोल ( जिसमें) दो तालिबात ( छात्र)) हलाक हो गए थे ।

सीवान रेलवे स्टेशन के क़रीब चाप धाला रेलवे क्रासिंग मौजूद है । हावड़ा । गोरखपोर ऐक्सप्रैस ट्रेन ने जिस वक़्त कॉलिज बस को टक्कर दी उस वक़्त बस में 25 तलबा ओ तालिबात ( छात्र व छात्रांए) सवार थे । हादिसा के बाद ट्रेन का इंजन पटरी से उतर गया था ।

हादिसा के फ़ौरी / फौरन बाद ज़बरदस्त अवामी एहतिजाज मुनज़्ज़म ( संगठित) किया गया जहां सैंकड़ों मुक़ामी अफ़राद ( स्थानीय लोग) ने ट्रेन की बोगियों को नज़र-ए-आतिश करते ( जलाते) हुए रेलवे की इमलाक ( संपत्ती) को शदीद नुक़्सान पहुंचाया। मिस्टर मनी अप्पा के मुताबिक़ रेलवे क्रासिंग पर मौजूद निगरानकार के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी कि इसने ये जानते हुए कि ट्रेन वहां से गुज़रने वाली है बस को पटरियां पार करने की इजाज़त कैसे दी ।

TOPPOPULARRECENT