2019 तक रांची में दिल्ली जैसी सहूलत : वजीरे आला

2019 तक रांची में दिल्ली जैसी सहूलत : वजीरे आला
Click for full image

रांची : बिरसा मुंडा बस टर्मिनल का इफ़्तिताह करते हुए वजीरे आला रघुवर दास ने कहा कि रियासती सतह बस टर्मिनल से अब रियासत के लोगों को गर्व की बात होगी। पहले इंटरनेशनल क्रिकेट ग्राउंड से रांची की पहचान होती थी, लेकिन अब साफ और बेहतर रांची से भी हमारी पहचान होगी। साल 2019 तक रांची में दिल्ली जैसी सहूलत मिलेगी। जुमा को वजीरे आला ने 15 करोड़ की लागत से बने बस टर्मिनल को रियासत की अवाम को सुपुर्द किया। उन्होंने कहा कि यह इंटेरनेशनल सतह का बस पड़ाव है।

अब इसे साफ रखना लोगों की जिम्मेदारी होगी। बस मालिक बस पड़ाव की देखरेख की जिम्मेदारी लें। आज का यह दिन रियासत के तरक्की में मील का पत्थर साबित होगा। मौके पर शहर तरक्की वज़ीर सीपी सिंह, मेयर आशा लकड़ा, एमपी रामटहल चौधरी, कांके एमएलए जीतू चरण राम, उप महापौर संजीव विजयवर्गीय, झारखंड बस ऑनर्स एसोसिएशन के सदर सच्चिदानंद सिंह समेत कई लोग
मौजूद थे।

दुबई बेहतर शहर के नाम से जाना जाता है। वहां इंडस्ट्री तो नहीं है, लेकिन वहां के लोग तरीके से रहते हैं। बस स्टैंड में खुले में कोई सिगरेट नहीं पीये। पब्लिक मुकाम पर सिगरेट पीनेवालों से जुर्माना लिया जाना चाहिए। मुंसिपल कॉर्पोरेशन अलग से स्मोकिंग जोन की तामीर कराये, जहां लोग सिगरेट पी सकें। वजीरे आला ने कहा कि बस मालिक अब सड़क के किनारे बस नहीं लगायें। इधर-उधर बसों को नहीं घुमायें। कानून को हाथ में नहीं लें। नियम का पालन करें। ऐसा नहीं करनेवाले बस मालिकों से जुर्माना वसूला जाना चाहिए। मुझे याद है कि जमशेदपुर से कांटा टोली आने पर कैसे परेशानी होती है।

क्या-क्या सहूलत होंगी

बैठने के लिए कुरसी, पंखा, पीने के लिए पानी और बाइतुल खुला की सहूलत
ठहरने के लिए डॉलमेट्री, एसी व नॉन एसी कमरा
बिजली के लिए जेनरेटर की सहूलत के साथ
पैसेंजर इनफाॅर्मेशन सिस्टम की निजाम
सीसीटीवी कैमरा से बस टर्मिनल की सेक्युर्टी
आठ टिकट काउंटर और दो पूछताछ दफ्तर
दो जगह मुसाफिर के रहने की की जहाग की सहूलत

Top Stories