Sunday , November 19 2017
Home / Khaas Khabar / 21वीं सदी एशिया की सदी होगी ,मलेशिया में बोले नरेंद्र मोदी,

21वीं सदी एशिया की सदी होगी ,मलेशिया में बोले नरेंद्र मोदी,

नई दिल्ली,
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत और दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संघ (आसियान) के देशों को स्वाभाविक साझीदार बताया है। मोदी ने अपने चार दिवसीय मलेशिया और सिंगापुर की यात्रा के पहले दिन आसियान व्यापार एवं निवेश शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और आसियान स्वाभाविक साझीदार हैं। हमारे संबंध प्राचीन काल से हैं। उन्होंने कहा कि मैं कहता रहा हूं कि 21वीं सदी एशिया की सदी है। मैं ऐसा आसियान देशों के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए कहता हूं। मोदी आज ही 13वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन और रविवार को 10वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

वहीं, मलेशिया की राजधानी क्वालालंपुर में आज से शुरू हो रहे तीन दिन के आसियान शिखर सम्मेलन में भाग लेने आ रहे 18 देशों के नुमाइंदो के आने से ठीक पहले पुलिस की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है। मलेशिया पुलिस की एक रिपोर्ट से पता चला है कि आतंकियों ने करीब दर्जनभर आत्मघाती दस्ते को पहले से ही मलेशिया भेज दिया है।

क्वालालंपुर और बोर्नियो में आत्मघाती दस्तों की संभावित मौजूदगी को लेकर जो आंतरिक पुलिस सर्कुलर जारी किया गया था, उसके सामने आने पर मलेशिया के पुलिस प्रमुख खालिद अबु बकर ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। बकर ने एक बयान जारी कर कहा कि मलेशिया में आतंकी वारदात को अंजाम देने की रिपोर्ट है। हालांकि मैं ये भी कहना चाहूंगा कि इसकी पुष्टि होना अभी बाकी है।

डेली ऑनलाइन न्यूज वेबसाइट ‘मलेशियाकिनी’ के मुताबिक, खालिद ने फिलीपींस के आतंकी ग्रुप के सदस्य अबु सय्यफ और इस्लामिक स्टेट के बीच हुई बैठक को लेकर जारी किए गए आंतरिक सर्कुलर के खुलासे की पुष्टि की है। इस सर्कुलर के मुताबिक, आईएस ने आत्मघाती हमलावरों को मलेशिया के बोर्नियो द्वीप पर स्थित राज्य साबाह के साथ ही मलेशिया की राजधानी और सबसे ज्यादा आबादी वाले शहर क्वालालंपुर भेज दिया है।

16 नवंबर का जो सर्कुलर तैयार किया गया था वास्तव में वो आईएस, अबु सैय्यफ और मोरो नेशनल लिबरेशन फ्रंट के बीच हुई बैठक की खुफिया सूचना पर आधारित था। मलेशिया के सैन्य प्रमुख जुल्कीफेली मोहम्मद जिन ने कहा कि इन आतंकी वारदातों को देखते हुए करीब दो हजार सुरक्षाबलों को क्वालालंपुर में रणनीतिक स्थलों पर तैनात कर दिया गया है, जबकि बाकी करीब ढ़ाई हजार सुरक्षाबलों को अलग से तैयार रखा गया है।

00

TOPPOPULARRECENT