Saturday , November 25 2017
Home / Jharkhand News / 24 घंटे में क़त्ल का खुलासा नहीं होने पर मुश्तयिल तहरीक की वार्निंग

24 घंटे में क़त्ल का खुलासा नहीं होने पर मुश्तयिल तहरीक की वार्निंग

रांची : सफायर इंटरनेशनल स्कूल में स्टूडेंट विनय महतो की क़त्ल का खुलासा पुलिस वाकिया के पांचवें दिन भी नहीं कर पायी़. पुलिस ने मंगल को सफायर स्कूल के टीचर विश्वनाथ पोद्दार व दुर्वानंद जना को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट चंद्रभानु कुमार की अदालत में पेश किया़. अदालत से इन दोनों के अलावा टीचर दिनेश रॉय बोले और वार्डन अतानू नाग की पोलिग्राफी टेस्ट कराने की दरख्वास्त किया़.

पुलिस की तरफ से कहा गया कि चारों पर विनय महतो की क़त्ल में शामिल होने का शक है़. मामले में चारों बुध को अदालत में अपना हक रखेंगे और पोलिग्राफी टेस्ट पर जवाब देंगे़. इसके बाद अदालत इस पर अपना फैसला सुनायेगी़. पुलिस को इस बात का भी शक है कि विनय के साथ मारपीट की गयी और जब वह बेहोश हो गया, तो मरा हुआ समझ कर उसे टीचर्स हॉस्टल के पहले तल्ले से नीचे फेंक दिया गया़ .

इसकी तस्दीक के लिए पुलिस ने फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) की टीम भी बुलायी़. वाकिया के पांचवें दिन एफएसल की टीम ने पहली बार जाए हादसा का बारीकी से मुआयना किया़ पहले दिन सिर्फ लाश और उसके आसपास के इलाके की जांच कर लौट गयी थी़.

बाल तहफ्फुज़ कमीशन की दो रुकनी टीम ने मंगल को स्कूल का दौरा किया. टीम में कमिशन के मेंबर प्रियांक कानूनगो और वकील यशवंत जैन शामिल थे. टीम ने स्कूल के प्रिंसिपल से बात की. पूछा गया कि किसके हुक्म पर स्कूल को बंद कर 448 बच्चों के मुश्ताक्बिल के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. हालांकि बाद में सहाफियों से बात करते हुए दोनों ने बताया कि पुलिस जांच खत्म होने के बाद ही स्कूल खोला जा सकता है. उन्होंने मांग की है कि जांच जल्द पूरी कर मुलजिम को पकड़ा जाये़ पर जल्द जांच के नाम पर इसकी सिम्त न भटके और कोई बेगुनाह जेल न जाये़.

मंगल को स्कूल के प्रिंसिपल ने गार्जियन के साथ बैठक की. बैठक के बाद उन्होंने बताया कि वाकिया से डर का माहौल बना हुआ है, जिसे दूर करने की कोशिश की जा रही है. गार्जियन को बताया जा रहा है कि मुश्ताक्बिल में सिक्यूरिटी के क्या-क्या इंतजाम किये जायेंगे. उन्होंने बताया कि स्कूल इंतेजामिया पुलिस को हर तरह मदद कर रहा है़ हालात आम होने पर स्कूल खोला जायेगा. हालांकि कुछ गार्जियन ने यहाँ तक कहा कि बच्चे को घर पर रख कर ही पढ़ायेंगे. सिर्फ इम्तिहान दिलवाने यहां लायेंगे.

क़त्ल की गुत्थी तकरीबन सुलझ गयी है़ जल्द ही इसका खुलासा कर दिया जायेगा़ – डीके पांडेय, डीजीपी

TOPPOPULARRECENT