Tuesday , December 12 2017

24 जून को मेयर चुनाव !

रांची के मेयर का इंतिख़ाब 24 मई को हो सकता है। रियासत एलेक्शन कमीशन के ज़राये से मिली जानकारी के मुताबिक 23 से 26 जून के दरमियान इंतिखाब कराने की तजवीज बनाने पर गौर किया जा रहा है। 16 मई को लोकसभा इंतिख़ाब की वोट की गिनती के तुरंत बाद कमीशन क

रांची के मेयर का इंतिख़ाब 24 मई को हो सकता है। रियासत एलेक्शन कमीशन के ज़राये से मिली जानकारी के मुताबिक 23 से 26 जून के दरमियान इंतिखाब कराने की तजवीज बनाने पर गौर किया जा रहा है। 16 मई को लोकसभा इंतिख़ाब की वोट की गिनती के तुरंत बाद कमीशन की तरफ से गोवर्नर को तजवीज भेज दिया जायेगा। इंतिख़ाब की तैयारी के लिए कमीशन पहले ही रांची के डीसी शरीक एलेक्शन कमीशन ओहदेदार को जरूरी हिदायत जारी कर चुका है।

रियासत एलेक्शन कमीशन ने डीसी को इवीएम तैयार करने की हिदायत दिया है। साथ ही वोटिंग मुलाज़िमीन को इवीएम की तरबियत यकीन दिहानी करने को कहा है। कमीशन की तरफ से वोटिंग गिनती सेंटर की इफ़्तेताह करने से मुतल्लिक़ हिदायत भी दिये गये हैं। इसके लिए 10 मई के पहले कमीशन का इजाजत हासिल करने के लिए कहा गया है। इंतिख़ाब के मद्देनजर जिला नायब एलेक्शन ओहदेदार, एलेक्शन ओहदेदार और असिस्टेंट एलेक्शन ओहदेदार की तकर्रुरी कर 20 अप्रैल तक कमीशन का मंजूरी हासिल करना यकीन देहानी करने के लिए कहा गया है। जुमा को रियासत एलेक्शन कमीशन ने इंतिख़ाब से मुतल्लिक़ अहम बैठक बुलायी है। इसमें रांची के डीसी को मौजूद रहने की हिदायत दिया गया है। इंतिख़ाब की तैयारी और तारीख को लेकर यह बैठक काफी अहम है।

एक साल से मेयर का ओहदा है खाली
मालूम हो कि एक साल से ज़्यादा वक़्त से रांची के मेयर का ओहदा खाली है। मार्च 2013 में रांची मुंसिपल कॉर्पोरेशन के मेयर का इंतिखाब होने से एक दिन पहले छापेमारी में रकम और इंतिखाब में इस्तेमाल होने वाली आशाअत का समान जब्त की गयी थी। उसके बाद रियासत एलेक्शन कमीशन ने मेयर इंतिख़ाब की अमल पर रोक लगा दी थी। इस वजह से रांची के मेयर का इंतिख़ाब नहीं हो सका था। अदालत में मामला जेरे गौर होने की वजह से एक साल से ज़्यादा वक़्त तक इंतिख़ाब नहीं कराया जा सका। अब एक बार फिर से रियासत एलेक्शन कमीशन ने इंतिख़ाब की अमल शुरू की है।

बूथों की फेहरिस्त भेजी गयी
मेयर इंतिखाब को लेकर जुमेरात को मुंसिपल कॉर्पोरेशन ने 899 बूथों का तसदीक़ किया। तमाम बूथों की लिस्ट डीसी को भेज दी गयी है। इधर, जिले के मुलाज़िमीन वोटर लिस्ट ठीक करने में जुट गये हैं। 25 अप्रैल तक मुंसिपल कॉर्पोरेशन इलाक़े के वोटिंग की लिस्ट अशाअत किया जायेगा, ताकि वोटर अपनी एतराज़ और सुझाव दे सकें। वोटर लिस्ट का आखरी आशाअत 10 मई को किया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT